जम्मू: जम्मू कश्मीर के नौशेरा कस्बे को जिला बनाए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों की शनिवार पुलिस से झड़प हो गई और इस दौरान 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए. घायलों में एक उपायुक्त और करीब 10 पुलिस वाले भी शामिल हैं. प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर पथराव किया जिसके बाद पुलिस ने उग्र भीड़ को तितर- बितर करने के लिये लाठी चार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े.

राजौरी जिले के नौशेरा में पिछले करीब डेढ़ महीने से प्रदर्शन चल रहा है. प्रदर्शनकारियों की मांग है कि सीमावर्ती नौशेरा, कालाकोटी और सुंदरबानी कस्बों को जिला बनाया जाए. जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा तीनों कस्बों के लिये शुक्रवार को अतिरिक्त उपायुक्त की नियुक्ति किये जाने के एक दिन बाद प्रदर्शन ने शनिवार को हिंसक रूप ले लिया.

बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने नौशेरा कस्बे में एक रैली निकाली. पुलिस ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो दोनों पक्षों में झड़प शुरू हो गई. भीड़ ने पुलिसकर्मियों और उनके वाहनों पर पथराव शुरू कर दिया. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिये हलका बल प्रयोग किया. पुलिस ने कहा कि इस दौरान 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए.

उन्होंने कहा कि घायलों में उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी, एक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, दो पुलिस उपाधीक्षक, एक थाना प्रभारी और दो उप निरीक्षक शामिल हैं. इसके अलावा 20 नागरिक भी घायल हुए हैं जिन्हें जम्मू के जीएमसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उन्होंने कहा कि पथराव में पुलिस की पांच गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है. घटना के मद्देनजर इलाके में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है.