नांदेड़| कांग्रेस ने नांदेड़-वाघला नगर निगम चुनाव में 81 में से 73 सीटें जीतकर बीजेपी के विजयरथ को रोक दिया. नांदेड़ महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण का गढ़ है. नांदेड़ नगर निगम पर अपना कब्जा जमाने के लिये बीजेपी ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था मगर उसे महज छह सीटों पर ही सफलता मिली.

इस जीत के बाद निराश कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह का माहौल देखने को मिला. नांदेड़ से लेकर मुंबई तक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जीत का जश्न मनाया. सियासी पंडितों की माने तो नांदेड में मिली जीत पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण के कड़ी मेहनत का नतीजा है. इस जीत से राज्य में कांग्रेस कार्यकताओं के हौसले बुलंद होंगे.

बता दें कि चुनाव प्रचार में कांग्रेस, भाजपा और शिवसेना के बीच कटु वाक्युद्ध देखने को मिला था मगर अंत में जीत कांग्रेस की ही हुई.

आइये देखते है कि इस जीत से कांग्रेस ने क्या हासिल किया:

Ashok-Chavan

  • इस जीत के बाद महाराष्ट्र कांग्रेस में अशोक चव्हाण की स्थिति और मजबूत हो गई.
  • नांदेड़ में विभिन्न समस्याओं के बावजूद कांग्रेस पार्टी जीती इससे यह साफ़ होता है कि लोगों का रुझान अब कांग्रेस पार्टी की और बढ़ रहा है. कुछ समय पहले तक ऐसा नहीं था.
बीएमसी उपचुनाव में भाजपा जीती, शिवसेना के साथ था कड़ा मुकाबला

बीएमसी उपचुनाव में भाजपा जीती, शिवसेना के साथ था कड़ा मुकाबला

  • इस जीत ने राज्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने का काम किया है.
  • नांदेड़-वाघला नगर निगम चुनाव में कांग्रेस के सभी नेताओं ने एक साथ आकर चुनाव प्रचार किया. यह एक टीम-वर्क था जिसने पार्टी के भीतर दरार की ख़बरों को गलत साबित किया.
  • इस चुनाव में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को एक सीट भी नहीं मिली जो कांग्रेस के लिए अच्छी खबर है.
  • इस जीत से चव्हाण ने नारायण राणे को भी जवाब दे दिया जो लगातार उन्हें टारगेट कर रहे थे.

बीजेपी का नुकसान:

Maharashtra CM Devendra Fadnavis

  • दूसरी पार्टी के नेताओं को चुनावों से पहले पार्टी में लेकर इलेक्शन नहीं जीता जा सकता यह सबक बीजेपी को इस हार के बाद मिला होगा.
  • शिवसेना के बागी विधायक को चुनाव की ज़िम्मेदारी देना भी बीजेपी को भारी पड़ा.
  • मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और तमाम मंत्रियों के प्रचार के बाद भी अशोक चव्हाण ने जीत हासिल की.
  • पेट्रोल-डीजल के बढ़ते भाव, बढ़ती महंगाई और युवाओं को नौकरी ना मिलने का गुस्सा भी इस चुनाव में देखने को मिला.

बहरहाल, चव्हाण ने पार्टी की जीत की वजह के लिए ईवीएम में छेड़छाड़ नहीं हेाने की वजह बताई. उन्होंने दावा किया कि भाजपा की वापसी यात्रा शुरू हो गयी है.