नई दिल्ली: वियतनाम के शोधकर्ताओं के एक दल ने दावा किया है कि उन्होंने एप्पल के ‘सुपर प्रीमियम’ आईफोन एक्स के फेस आईडी पहचान प्रणाली को बेवकूफ बनाने में सफलता प्राप्त की है. उन्होंने कहा कि यह स्मार्टफोन की सुरक्षा की गारंटी देने के लिए अभी फेस आईडी प्रणाली ‘पर्याप्त परिपक्व नहीं’ है. इन लोगों ने एक समग्र 3डी मुखौटे का उपयोग कर आईफोन एक्स को अनलॉक करने में सफलता प्राप्त की है.

हाल ही में आईफोन लांच करने का कार्यक्रम में एप्पल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष फिल सिलर ने दावा किया था कि फेस आईडी असली चेहरे और मुखौटे के बीच अंतर करने में अपनी कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) के बूते सक्षम है.

Apple ने माना ठंड में काम नहीं करती iPhone X की स्क्रीन, सॉफ्टवेयर अपडेट से करेगा फिक्स

Apple ने माना ठंड में काम नहीं करती iPhone X की स्क्रीन, सॉफ्टवेयर अपडेट से करेगा फिक्स

वियतनाम की सुरक्षा कंपनी बीकॉव ने 3डी प्रिंटर की मदद से एक मास्क बनाया है, जिसकी लागत 150 डॉलर है. बीकॉव ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, “नाक को कलाकारों ने हाथ से बनाया है. हमने अन्य हिस्सों के लिए 2डी प्रिटिंग का प्रयोग किया (इसी तहत से हमने नौ साल पहले चेहरा पहचानने वाली प्रणाली को चकमा दिया था). वहीं, मुखौटा की त्वचा को भी हाथों से बनाया गया, ताकि एप्पल के एआई को चकमा दिया जा सके.”

बीकॉव के उपाध्यक्ष (साइबर सुरक्षा) एनगो तुआन आन ने कहा, “इस मुखौटे को 3डी प्रिटिंग, मेकअप और 2डी प्रिटिंग की मदद से बनाया गया है. इसके अलावा गालों और चेहरे के आसपास विशेष कलाकारी की गई है, जहां त्वचा का अधिक हिस्सा होता है, ताकि फेसआईडी के एआई को मूर्ख बनाया जा सके.”