नई दिल्ली: ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सह-संस्थापक जैक डोर्सी लगातार तीसरे साल कोई भी वेतन लेने से मना कर दिया है. उन्होंने माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफार्म को चलाने के लिए एक पैसा भी लेने से इनकार कर दिया. अमेरिकी सुरक्षा और विनिमय आयोग (एसईसी) में ट्विटर ने नियामकीय फाइलिंग में कहा, ट्विटर की लंबी अवधि की मूल्य सृजन की क्षमता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता और भरोसे के कारण जैक डोर्सी ने 2017 में कोई भी प्रतिफल लेने से मना कर दिया है. डोर्सी के पास हालांकि कंपनी के शेयर्स हैं, जिनका मूल्य 2018 की शुरुआत तक 20 फीसदी बढ़ा है.

वेरायटी में गुरुवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया, 2 अप्रैल तक डोर्सी के पास कंपनी के 1.8 करोड़ शेयर थे, जिनका वर्तमान मूल्य 52.9 करोड़ डॉलर है. उनके पास सभी बकाया शेयरों का 2.39 फीसदी हिस्सा है. फाइलिंग के मुताबिक ट्विटर के मुख्य वित्तीय अधिकारी नेद सहगल ने 2017 में कुल 1.43 करोड़ डॉलर प्रतिफल प्राप्त किया.

गौरतलब है कि इसी साल के जनवरी में ट्विटर के सीईओ जैक डोर्से ने एक बयान में कहा था, 30 करोड़ से ज्यादा उपयोगकर्ताओं वाली कंपनी ट्विटर फिलहाल उपयोगकर्ताओं की धीमी वृद्धि और पिछले कुछ समय से राजस्व घाटे से जूझ रही है. यह बात डोर्सी ने तब बयां की थी जब माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के मुख्य संचालन अधिकारी (सीओओ) एंथनी नोटो ने कंपनी से इस्तीफा देकर उसकी विस्तार योजना को एक झटका दिया था. तब डोर्सी ने यह भी कहा था कि, नोटो से अलग होकर बुरा लग रहा है, ट्विटर के भविष्य के लिए मैं आश्वस्त हूं, मैं ट्विटर की टीम को भविष्य में असाधारण सफलताएं पाते हुए देख रहा हूं.