नई दिल्ली: लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप कस्टमर्स का पेमेंट डाटा अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक से शेयर कर रही है. फेसबुक अपने यूजर्स का डाटा थर्ड पार्टी को देने की बात को स्वीकार भी कर चुका है. यह खबरें ऐसे समय में सामने आ रही हैं जब फेसबुक पहले से ही यूजर्स की व्यक्तिगत जानकारियों का दुरुपयोग करने को लेकर विवादों में है.

व्हाट्सएप की ओर से कहा गया है कि पेमेंट सर्विस को बेहतर करने के लिए हम ये इंफॉर्मेशन फेसबुक के साथ साझा कर सकते हैं. व्हाट्सएप का कहना है कि पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर्स को पेमेंट संबंधी निर्देश देना, ट्रांजेक्शन डिटेल, यूजर का मोबाइल नंबर, रजिस्ट्रेशन इंफॉर्मेशन, वर्चुअल पेमेंट्स एड्रेस के साथ ही सेंडर का यूपीआई पिन और पेमेंट अमाउंट जैसी इंफॉर्मेशन शेयर की जा सकती हैं.

व्हाट्सएप मार्च में ही नया पेमेंट फीचर लेकर आया है. व्हाट्सएप ने अपने यूजर्स के लिए UPI बेस्ड पेमेंट फीचर शुरु किया है. ये नया फीचर यूजर्स को QR कोड स्कैन करके पैसे ट्रांसफर करने का विकल्प देता है. पहले यूजर्स को अमाउंट डालने के बाद, यूपीआई पिन एंटर कर, भुगतान के लिए आगे की प्रक्रिया पूरी करनी होती थी. अब यूजर्स सिर्फ क्यूआर कोड स्कैन करके तेजी से अमाउंट ट्रांसफर कर सकते हैं. फेसबुक डेटा लीक मामले के बाद अब फेसबुक की स्वामित्व वाली कंपनी व्टाटसऐप लगातार शक के घेरे में है.