नई दिल्ली: कई दिनों से ऐसी खबरें आ रही हैं कि आपका मोबाइल नंबर 13 डिजिट का होने वाला है. अब दूरसंचार विभाग ने मशीन से मशीन एम 2 एम संवाद के परीक्षण के लिए दूरसंचार कंपनियों को 13 अंकों वाले नंबर जारी कर दिए हैं. एम 2 एम संवाद से मतलब स्मार्ट बिजली मीटर और कार ट्रेकिंग डिवाइस जैसे उपकरणों के बीच संवाद शामिल है.

विभाग ने सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल, निजी कंपनी भारती एयरटेल, रिलायंस जियो, आइडिया सेल्यूलर और वोडाफोन को 13 अंक के नंबर केवल टेस्टिंग के लिए जारी किए हैं. विभाग के पत्र के अनुसार उसने सेवा प्रदाताओं में प्रत्येक लाइसेंस सेवा क्षेत्र के लिए 10 लाख कोड केवल टेस्टिंग के लिए जारी किए हैं. एम 2 एम संवाद नई पीढ़ी की एक टेक्नोलॉजी है जो कि स्मार्ट होम व स्मार्ट कार जैसी अवधारणा के केंद्र में है.

1 जुलाई से 13 अंकों का हो जाएगा आपका मोबाइल नंबर!

आपको बता दें कि दूरसंचार मंत्रालय ने भारत में दूरसंचार उपभोक्ताओं की बढ़ती हुई संख्यां को देखते हुए 10 की जगह 13 डिजिट नंबर लाने का फैसला कुछ महीने पहले ही लिया था. इस समय भारत में करीब 60 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता हैं जो अगले 3-4 सालों में 80 करोड़ की संख्यां को पार कर जाएंगे.

13-अंको के मोबाइल नंबर के परीक्षण के बाद आने वाले समय में देश के सभी उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर बदल जाएंगे. ये बदलाव किस तरह होगा इसके बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं है. मालूम हो कि दूरसंचार विभाग ने वर्ष 1998-99 में देश के सभी टेलीफोन नंबर के आगे में एक डिजिट 2 लगा दिया था इसके बाद सभी महानगरों के बेसिक फोन नंबर 7 से 8 डिजिट के हो गए थे और 6 वाले 7 के, 5 वाले 6 डिजिट और 4 वाले 5 डिजिट के हो गए थे. विशेषज्ञों का मानना है कि ठीक इसी तरह सभी उपभोक्ताओं के नंबर के आगे में 3 डिजिट जोड़ दिए जाएंगे जो पूरे भारत में एक समान होगा और आखिरी के 10 डिजिट ग्राहकों का मौजूदा मोबाइल नंबर होगा.