कानपुर. यूपी में एक नाबालिग लड़की के साथ मानवता को शर्मसार करने बर्बरता का मामला सामने आया है. कानपुर देहात इलाके में सरकारी हैंडपंप से पानी भरने को लेकर हुए मामूली विवाद में तीन लोगों ने 16 साल की एक लड़की को जिंदा जला दिया है. लड़की को तब आग लगाई गई, जब वह पास लगे हैंडपंंप पसे पानी भरने के लिए बाल्टी लेकर पहुंची थी. गंभीर हालत में लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां वह जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है. पुलिस ने इस मामले के तीन आरोपियों में से एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

डीआईजी कानुपर (देहात) रतनकांत पांडेय ने रविवार को बताया कि राजेपुर थानाक्षेत्र के बैना गांव में रहने वाली निधि दोहरे (16) की शनिवार शाम पानी भरने को लेकर मामूली कहासुनी हो गई. उन्होंने बताया कि इसके बाद शैलेन्द्र, धीरज और बीरू सहित निधि के पड़ोसियों ने उस पर मिट्टी का तेल डालकर कर उसे आग लगा दी. निधि 60 फीसदी जल गई है. डीआईजी पांडेय ने बताया कि निधि को तत्काल राजेपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से उसे डाक्टरों ने जिला अस्पताल भेज दिया है. 

आरोपी भी दलित समुदाय से
डीआईजी पांडेय ने बताया कि निधि का बयान मजिस्ट्रेट ने दर्ज कर लिया है. निधि की स्थिति गंभीर है इसलिए उसे कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल भेजा गया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. एक आरोपी गिरफ्तार किया जा चुका है. पीड़िता और सभी आरोपी दलित समुदाय से हैं.  पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद अभी तक एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस टीम शेष दो आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तलाशी अभियान में जुटी हुई है. (इनपुट- एजेंसी)