लखनऊ: समाजवादी पार्टी  निर्दलीय एमएलए रघुराज प्रताप सिंह ‘राजा भैया’ पर बहुत कुछ साफ कहने से बचती नजर आती रही है, लेकिन अब पार्टी प्रमुख को लगने लगा है कि राजा भैया उनके साथ नहीं हैं. एसपी प्रेसिडेंट और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने अपनी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के बारे में कहा कि अब उन्हें नहीं लगता कि वह उनके साथ हैं. अखिलेश ने एक संवाददाता सम्मेलन में हाल में संपन्न राज्यसभा चुनाव के दौरान राजा भैया को बधाई वाला ट्वीट डिलीट किए जाने के सवाल पर कहा ”ट्वीट तो भावना है. आप हमारे साथ हैं तो हम साथ हैं, और खिलाफ हैं तो दूर रहिए.”

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि राजा भैया के बारे में उन्हें कुछ नहीं कहना है. ”कम से कम आंखें खुल जाएं यह बहुत अच्छा रहता है. हमें तो नहीं लगता कि वह हमारे साथ हैं.” दरअसल, अखिलेश ने गत 23 मार्च को प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के चुनाव के दौरान एक ट्वीट करके एसपी को समर्थन देने के लिए निर्दलीय विधायक राजा भैया को धन्यवाद दिया था. हालांकि, बाद में उन्होंने उसे हटा दिया था.

बता दें कि एसपी ने राज्यसभा चुनाव में बीएसपी प्रत्याशी भीमराव अम्बेडकर को समर्थन दिया था, मगर वह जीत नहीं सके थे. राजा भैया वोट डालने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मिले थे, जिसे लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई गई थीं. राजा भैया पूर्व में अखिलेश यादव सरकार में खाद्य एवं रसद मंत्री रह चुके हैं. (इनपुट- एजेंसी)