लखनऊ: यूपी में बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रहीं हैं, जबकि संविधान निर्माता की जन्म जयंती पर प्रधानमंत्री से लेकर प्रदेश के सभी नेता उनके गुणगान करते रहे. इसके बावजूद उनकी प्रतिमा तोड़े जाने का सिलसिला थम नहीं रहा है. ताजा मामला गाजीपुर जिले के बहरियाबाद थाना क्षेत्र के मीरपुर गांव का है. गांव में अराजक तत्वों ने डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा खंडित कर दिया, जिससे गांव में तनाव फैल गया. गुस्साए लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए चक्काजाम करने की कोशिश की. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने लोगों को शांत कराया और क्षतिग्रस्त प्रतिमा की मरम्मत कराने का आश्वासन दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, गाजीपुर के बहरियाबाद थाना क्षेत्र के मीरपुर गांव में करीब 25 वर्ष से पहले स्थापित की गई डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को अराजक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दी. सोमवार को जब लोगों ने प्रतिमा क्षतिग्रस्त देखी तो गांव में तनाव फैल गया. इस दौरान मौके पर पहुंचे दलितों ने धरना देना शुरू कर दिया. सूचना मिलने पर एसडीएम सैदपुर सत्यम मिश्र तथा सीओ सैदपुर मुन्नी लाल गोंड समेत पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को संभालने का प्रयास किया. लेकिन आक्रोशित लोग नहीं माने, लोगों ने कहा कि तीसरी बार प्रतिमा का क्षतिग्रस्त किया गया है. लोगों को पुलिस अधिकारियों ने किसी प्रकार शांत कराया और प्रतिमा की मरम्मत कराने का आश्वासन दिया. लोगों ने प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. गांव निवासी एक युवक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने सूरज मिश्रा, आशीष सिंह और धीरज मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है.

पढ़ें: इलाहाबाद में तोड़ी गई डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा

थम नहीं रही बाबा साहेब की प्रतिमा से छेड़छाड़ की घटनाएं
यूपी में मेरठ से शुरू हुई बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा से छेड़छाड़ घटना रूकने का नाम नहीं ले रही है. रोजाना किसी न किसी जिले से बाबा साहेब की प्रतिमा को तोड़े जाने की घटनाएं सामने आ रहीं हैं. इसके बावजूद स्‍थानीय प्रशासन और सरकार इस ओर कड़े कदम नहीं उठा रही है. इससे लोगों में पुलिस प्रशासन और सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है.