लखनऊ: उन्‍नाव रेप मामले में विपक्षी पार्टियां जहां राज्‍य की भाजपा सरकार पर आरोपी विधायक को बचाने का आरोप लगा रही हैं, वहीं, बीजेपी के एक विधायक उनके बचाव में सामने आए हैं. आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के बचाव में बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने अजीबोगरीब बयान दिया है. सिंह ने कहा कि मनोवैज्ञानिक नजरिये से भी देखें तो तीन बच्‍चों की मां के साथ कोई भला दुष्‍कर्म कैसे कर सकता है.

सिंह इतने पर ही नहीं रुके. उन्‍होंने कुलदीप सेंगर के खिलाफ साजिश का आरोप लगाते हुए आगे कहा कि पीडि़‍त युवती के पिता के साथ कुछ लोगों द्वारा मारपीट की बात मैं मान सकता हूं, लेकिन रेप की बात नहीं मान सकता.

बता दें कि एक युवती ने उन्‍नाव के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर साथियों के साथ मलिकर रेप का आरोप लगाया था. युवती ने रवविवार को कहा था कि आरोपी अरेस्‍ट नहीं हुए तो वह आत्‍महत्‍या कर लेगी. 3 अप्रैल को विधायक पक्ष की ओर से शिकायत वापस लेने का दबाव बनाने के लिए युवती के पिता के साथ मारपीट की थी. इसके बाद उन्‍नाव पुलिस ने युवती के पिता को हिरासत में लिया और उनकी संदिग्‍ध हालत में मृत्‍यु हो गई.

इधर घटना के बाद से उन्‍नाव के माखी गांव की फिजा पूरी तरह बदल गई है. चहल-पहल कम है. जांच और पूछताछ से बचने के लिए अधिकतर पुरुष गांव से बाहर चले गए हैं. गांव में बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर का प्रभाव है और स्‍थानीय लोगों का मानना है कि प्रशासन विधायक के ही निर्देश मानता है. कुलदीप सिंह की पत्‍नी संगीता सिंह उन्‍नाव जिला पंचायत प्रमुख हैं. कुलदीप के भाई अतुल सिंह की पत्‍नी अर्चना सिंह ग्राम प्रधान हैं. पीडि़त युवती की मां का कहना है कि विधायक के डर से गांव में कोई उनकी मदद नहीं करेगा.