फैजाबाद। रामजन्म भूमि के प्रमुख पक्षकारों में से एक महंत भास्कर दास का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वे 89 वर्ष के थे. अयोध्या स्थित तुलसीदास घाट पर आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. महंत के करीबियों ने बताया कि वह काफी अरसे से बीमार चल रहे थे. अचानक तबीयत खराब होने पर उन्हें फैजाबाद के हर्षण हृदय संस्थान में ऐडमिट कराया गया था. सुबह करीब चार बजे के आसपास उन्होंने अंतिम सांस ली. सीएम योगी ने भी महंत के निधन पर दुख व्यक्त किया है.

मथुराः मंदिर परिसर में साध्वी के साथ बलात्कार, चौकीदार गिरफ्तार

मथुराः मंदिर परिसर में साध्वी के साथ बलात्कार, चौकीदार गिरफ्तार

पिछले कुछ दिनों से बाबा महंत दास को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. महंत के निधन की सूचना के बाद उनके शिष्यों का जमावड़ा अयोध्या स्थ‍ित मंदिर में लगने लगा है. महंत भास्कर दास के शिष्य और नाका हनुमानगढ़ी के उत्तराधिकारी महंत रामदास ने बताया कि महाराज जी के निधन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी संवेदना प्रकट की है. साथ ही साथ उन्होंने जल्दी ही फैजाबाद आकर श्रृद्धांजलि अर्पित करने की बात कही.

निर्मोही अखाड़ा के महंत भास्कर दास रामजन्मभूमि केस में मुख्य पक्षकार थे. 89 वर्षीय महंत भास्कर दास 1959 से राम जन्मभूमि के मुकदमे जुड़े थे.