लखनऊ: यूपी में डा. अंबेडकर के नाम और उनकी प्रतिमा को लेकर सियासत थमने वाली नहीं दिख रही है. बदायूं जिले में बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा का रंग बदलकर भगवामय हो गया था. क्योंकि जिले के कुंवरगांव थाने के दुगरैया स्थित गांव में तोड़ी गई डॉ. अंबेडकर की नई प्रतिमा नीले रंग की लाने की जगह भगवा रंग की लाई गई. रविवार को समाज के लोगों व पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में इसका अनावरण किया गया. बाबा साहेब की प्रतिमा के भगवा रंग को देख लोगों ने हंगामा किया तो आज दोपहर में प्रतिमा को वापस नीले रंग में कर दिया गया.

मिली जानकारी के मुताबिक, बदायूं जिले के दुगरैया गांव में शनिवार को संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा किसी ने क्षतिग्रस्त कर दी. इसके बाद प्रशासन ने आनन-फानन में आगरा से अंबेडकर की नई प्रतिमा मंगवाई. रविवार को प्रतिमा का ग्रामीणों के बीच अनावरण किया गया. इस दौरान बसपा के जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम समेत बसपाइयों ने जोश-खरोश के साथ प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तो प्रशासन ने भी राहत की सांस ली.

 

मूर्ति का रंग बदला देखकर किसी ने नहीं किया विरोध
इस बार अंबेडकर की प्रतिमा नीले रंग की बजाए भगवा रंग में स्थापित की गई. आम तौर पर बाबा साहेब की प्रतिमा नील रंग में देखने को मिलती है. अनावरण के समय बसपा के जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम सहित बसपा के कार्यकर्ता मौजूद थे. लेकिन किसी ने इसका विरोध नहीं किया.

पढ़ें: बदायूं में बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा हुई भगवामय

बवाल बढ़ा तो बसपा जिलाध्यक्ष आए आगे
कुंवरगांव के दुगरैया में तोड़ी गई प्रतिमा के स्थान पर बाबा साहेब की नई प्रतिमा को आगरा से मंगवाकर स्थापित करवाया गया. इस दौरान प्रतिमा के भगवा रंग के बावजूद कोई विरोध नहीं करने वाले बसपा जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम मंगलवार को बदल गए. उन्होंने आज लोगों के विरोध को देखते हुए प्रतिमा को नीले रंग में करवा दिया. तब जाकर मामला कुछ शांत होता दिखा.