लखनऊ| यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार की सुबह आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर से मुलाकात की. श्री श्री रविशंकर राम मंदिर मुद्दे पर मध्यस्थता कर रहे हैं. सीएम हाउस में दोनों ने करीब आधे घंटे बातचीत की. ऐसा भी बताया जा रहा है कि आध्यात्मिक गुरू गुरूवार को अयोध्या जाएंगे, जहां वे अयोध्या विवाद से जुड़े सभी पक्षकारों से मिलकर सुलह का रोडमैप साझा करेंगे.

श्री श्री रविशंकर दिगंबर अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच, शिव सेना, हिंदू महासभा के लोगों से भी मुलाक़ात करेंगे. उनके कार्यक्रम में विनय कटियार से मुलाकात भी है. इसके अलावा वे मुस्लिम समाज से भी मुलाकात करेंगे. वह मंत्री मोहसिन रज़ा से भी मुलाकात करेंगे.

इससे पहले श्री श्री रविशंकर ने कहा था कि वह अयोध्या विवाद में अपनी इच्छा से एक मध्यस्थ के तौर पर शामिल हुए हैं. उन्होंने कहा था कि यह मेरी अपनी इच्छा थी कि मैंअयोध्या विवाद में एक मध्यस्थ के तौर पर शामिल होऊं. उन्होंने यह भी कहा कि इस मुद्दे में मेरा कोई एजेंडा नहीं है और यात्रा के दौरान हर किसी की सुनुंगा’ उन्होंने अयोध्या विवाद में मध्यस्थता की इसलिए पेशकश की थी कि इसका अदालत से बाहर कोई हल निकल सके.

वहीं, केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने साफ़ कर दिया है कि अयोध्या मामले पर बातचीत में सरकार की कोई भूमिका है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर संबंधित पक्ष बातचीत के जरिये अयोध्या मामले का समाधान कर लें तो वह आदर्श स्थिति होगी