लखनऊ: दलित संगठन ‘भीम आर्मी’ यूपी में फिर सुर्खियों में आ गया है. भीम आर्मी ने यूपी के सरकारी स्‍कूलों में सुविधाओं की कमी का हवाला देते हुए प्रदेश भर में दलितों के लिए एक हजार स्‍कूल खोलने की घोषणा की है. ‘भीम आर्मी पाठशाला’ नाम से खुलने वाले स्‍कूल में भीम आर्मी के शिक्षित सदस्‍य बच्‍चों को पढ़ाने का काम करेंगे. इस दौरान पाठशाला के बच्‍चों को दलित संघर्ष और इतिहास के बारे में बताया जाएगा.

भीम आर्मी के सहारनपुर जिले के अध्‍यक्ष कमल सिंह वालिया ने कहा कि यूपी के सरकारी स्कूलों में सुविधाओं की भारी कमी है. ऐसे में दलित बच्चों को उचित शिक्षा नहीं मिल पा रही है. उन्‍होंने कहा कि दलित बच्चों के माता-पिता उनके लिए कोचिंग नहीं कर सकते. इसके चलते भीम आर्मी ने तय किया है कि जल्‍द ही प्रदेश भर में करीब एक हजार भीम आर्मी पाठशालाएं शुरू की जाएंगी.

 

उन्‍होंने कहा कि 21 जुलाई, 2015 में ही यह निर्णय लिया गया था, लेकिन किसी कारण से योजना धरातल पर उतर नहीं पाई. संगठन का कहना है कि भीम आर्मी की पाठशाला दलितों के इतिहास से जोड़ने के लिए और बच्चों को फ्री में शिक्षा देने के लिए खोली जा रही है. ताकि दलित समुदाय के बच्चे अपने इतिहास के तथ्यों को सही तरीके से जान सके