लखनऊ: इलाहाबाद से गुजर रहे केंद्रीय लघु व मध्यम उद्योग राज्यमंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि आज देश में बहुसंख्यक समाज को कमजोर करने की साजिश चल रही है. उन्होंने कांग्रेस और राहुल गांधी पर बहुसंख्यक समाज को कमजोर कर देश को टुकड़ों में बांटने की साजिश रचने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि ऐसा क्यों हो रहा है कि जहां बहुसंख्यक हिंदू कमजोर हो रहा है, वहीं सामाजिक समरसता टूट रही है.

समाचार एजेंसी आईएनएस के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शुक्रवार को प्रतापगढ़ जाते समय कुछ देर के लिए इलाहाबाद के सर्किट हाउस में रुके. गिरिराज ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘कांग्रेस व राहुल गांधी साजिश के तहत सामाजिक समरसता को कमजोर करते हुए हिंदुओं को आपस में बांटने का काम कर रहे हैं.’ इलाहाबाद आए गिरिराज ने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक में बहुसंख्यक हिंदुओं को बांटने की कोशिश की. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात में जनेऊ पहन लेते हैं. वहीं कर्नाटक में कांग्रेस बीफ की पार्टी कराती है. उन्होंने कहा कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी की मानसिकता है कि देश टुकड़े-टुकड़े में बंट जाए. कांग्रेस की ये साजिश देशहित में नहीं है. कांग्रेस देश में हिंदुओं को कमजोर करना चाहती है और इसके लिए सोनिया और राहुल गांधी ही पूरी तरह से जिम्मेदार हैं.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, भारत के मुसलमान कनवर्टेड हैं

अवार्ड वापसी वाले लोग चाहते हैं खंडित हो जाए हिंदू समाज 
केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘देश में अवार्ड वापसी वाले लोग चाहते हैं कि हिंदू समाज खंडित हो जाए और भाजपा चाहती है कि पूरा समाज एक हो और सनातन धर्म एकजुट हो. देश खंडित न हो. देश का इमोशन राष्ट्र व एकता के साथ सबके साथ जुड़ा रहे.’ रामनवमी पर बिहार व पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर गिरिराज सिंह ने कहा, ‘मैं लगातार बाहर हूं और बगैर पूरी जानकारी के कोई प्रतिक्रिया नहीं दे सकता हूं.’

अंबेडकर नाम पर किसी का एकाधिकार नहीं 
उप्र सरकार द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम के साथ ‘रामजी’ शब्द जोड़े जाने को उन्होंने सही ठहराया और कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है. लोग बेवजह सवाल उठा रहे हैं. अंबेडकर नाम पर किसी का एकाधिकार नहीं है, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर हम सब के हैं.