नई दिल्ली: पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम के उल्लंघन के तहत की गई गोलीबारी में शहीद बलिया निवासी बीएसएफ के जवान बृजेन्द्र बहादुर सिंह का आज (16 सितंबर) को उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया.

राज्य सरकार की तरफ से सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने आज शहीद के घर जाकर उनके पिता अशोक सिंह को 5 लाख रुपए और पत्नी सुष्मिता को 20 लाख रुपए का चेक प्रदान किया.

जवान बृजेन्द्र का पार्थिव शरीर सेना के विशेष वाहन से आज तड़के उनके गांव बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के विद्या भवन नारायणपुर लाया गया. भारत माता की जय ,शहीद बृजेन्द्र अमर रहे व पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे के बीच विशाल जन समूह के साथ जवान की अंतिम यात्रा गांव के ही पूर्व माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में पहुंची.

राज्य सरकार के प्रतिनिधि ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा , दिव्यांग मंत्री ओमप्रकाश राजभर, विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी, सांसद रविन्द्र कुशवाहा और भरत सिंह ने शहीद के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की. शहीद बृजेन्द्र की पूर्ण राजकीय व सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्टि हुई. उनके पार्थिव शरीर को मुखाग्नि शहीद के 6 वर्षीय बेटे भूपेंद्र ने दी.

शुक्रवार को उनकी शहादत की खबर को बाद से ही लोग उनके घर पहुंच श्रद्धांजलि दे रहे थे. वहीं लोगों को अपने पिता को अंतिम विदाई देता देख शहीद बृजेंद्र के बच्चे समझ नहीं पा रहे कि उनके पापा आखिर कहां चले गए.

राज्य सरकार के प्रवक्ता व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इस मौके पर कहा कि उत्तर प्रदेश को शहीद बृजेन्द्र पर गर्व है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को समय पर मुहतोड़ जबाब दिया जायेगा, उसे लगातार हर मोर्चे पर सबक सिखाया जा रहा है.

हमारे जाबांज सिपाहियों ने 368 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की सीमा में घुसकर मुंहतोड़ जवाब दिया गया , इससे वह बौखलाया हुआ है और कायराना हरकत कर रहा है.

उन्होंने राज्य सरकार की तरफ से शहीद बृजेन्द्र की स्मृति में शहीद स्मारक बनाने, खेल मैदान व प्रवेश द्वार का निर्माण कराने की घोषणा की. इस मौके पर जिलाधकारी सुरेंद्र विक्रम व पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार भी मौजूद थे.