उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को योगगुरु बाबा रामदेव के नोएडा में बनने वाले पतंजली फूड एवं हर्बल पार्क का शिलान्यास किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पतंजली योगपीठ ने अपने काम से दुनिया में एक अलग पहचान बनाई है। लखनऊ स्थित लोकभवन में एक समारोह के दौरान अखिलश ने कहा कि पतंजली के माध्यम से एक बड़ा काम नोएडा में होने जा रहा है, और इससे लोगों को काफी लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, “समाजवादियों ने पतंजली फूड एवं हर्बल पार्क का शिलान्यस कर बड़ा काम किया है। बाबा रामदेव एवं आचार्य बालकृष्ण ने एक अच्छी पहल की, जिसका सरकार ने साथ दिया।”

उन्होंने कहा, “बाबा रामदेव जब योग लेकर आए थे, तब योग की सबसे अधिक जरूरत थी। उन्होंने एक अलग पहचान बनाई है।”

अखिलेश ने कहा, “समाजवादियों की पहचान है कि जो भी काम हाथ में लेते हैं, वह काफी तेजी से करते हैं। फूड पार्क का काम भी काफी तेजी से होगा और इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था को काफी मजबूती मिलेगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं एक बार फ्रांस गया था, वहां फल, सब्जी और फूलों की मंडी देखकर दंग रह गया था। वह मंडी लगभग 300 एकड़ में फैली थी। वहां से सारे यूरोप में आपूर्ति की जाती है। लौटने के बाद मैंने बाबा रामदेव से कहा कि वह भी इस तरह का काम शुरू करेंगे तो इसमें सरकार पूरी मदद करेगी।”

अखिलेश ने कहा, “फूड पार्क बन जाने के बाद हजारों लोगों को इससे रोजगार मिलेगा। इससे उप्र में रोजगार पैदा होंगे। इसे बनाने में बाबा रामदेव का सहयोग सरकार हमेशा करती रहेगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि उप्र अपने आप में एक देश है, और यहां यदि कोई बड़ा काम होता है तो वह देश के अन्य हिस्सों में भी अपने आप पहुंच जाता है।

अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा, “लोग तो उप्र का इस्तेमाल प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचने के लिए करते हैं। उप्र की अर्थव्यवस्था यदि मजबूत होगी तो उसका देश पर अपने आप असर पड़ेगा।”

इससे पूर्व बाबा रामदेव ने कहा कि नोएडा में फूड एवं हर्बल पार्क का शिलान्यस मुख्यमंत्री के हाथों हुआ है, और इससे करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलने का रास्ता खुलेगा।

रामदेव ने कहा, “अखिलेश एक संस्कारवान व्यक्ति हैं। वह चाहते हैं कि उप्र का विकास हो और यहां के लोगों को रोजगार मिले। नोएडा में जो फूड और हर्बल पार्क बनेगा वह अपने आप में सबसे अलग और बड़ा होगा।”