लखनऊ: यूपी में बरेली जिले की बहेड़ी कोतवाली के एक गांव में झूठी आन की खातिर घरवालों ने बेटी की हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि घरवालों ने बेटी को यातनाएं देने के बाद मार डाला. इसके बाद गांव के श्मशान भूमि में लाश फूंक दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने चिता से शव निकाला. इससे पहले शव करीब 70 फीसदी जल चुका था. वारदात के बाद से किशोरी के परिजन घर से फरार हो गए. जिले के पुलिस अफसरों ने गांव में डेरा डाल दिया है. पुलिस फिलहाल मामले को ऑनर किलिंग मान रही है. वारदात की सूचना मिलते ही आईजी रेंज बरेली डीके ठाकुर, एसएसपी जोगेंद्र कुमार, एसपी ग्रामीण डा. सतीश कुमार ने छानबीन की.

जानकारी के मुताबिक, बरेली जिले की बहेड़ी तहसील के नदेली गांव की एक किशोरी का गांव के ही एक झोलाछाप डाक्टर रहीश अहमद से अफेयर चल रहा था. अफेयर गैर मजहब था, लिहाजा किशोरी के घरवाले इसका विरोध कर रहे थे. होली के अगले दिन युवक किशोरी को भागकर ले गया था. मामले में किशोरी के घरवालों की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर किशोरी बरामद कर ली और आरोपी युवक को जेल भेज दिया था. इसके बाद पुलिस ने बरामद किशोरी को एक रिश्तेदार की सुपुर्दगी में दे दिया था. गांव में चर्चा है कि जल्द ही कोर्ट में किशोरी के बयान दर्ज होने थे. किशोरी के घरवाले आरोपी के खिलाफ बयान दर्ज कराने का दबाव बना रहे थे. लेकिन किशोरी युवक से शादी करने की जिद पर अड़ी थी.

 

bareilly case 1

पढ़ें: यूपी में ऑनर किलिंग: लव मैरिज के लिए अड़ी बेटी को गला घोंट कर मारा, शव को लगा दी आग

किशोरी को समझाया, नहीं मानी तो की हत्‍या

किशोरी के परिजनों को ये सब मंजूर नहीं था. बताया गया है कि रविवार की रात परिजन रिश्तेदारी से किशोरी को घर बुलाकर लाये और रात को उसे समझाया. लेकिन जब वह नहीं मानी तो उसे टॉर्चर किया गया. आशंका जताई जा रही है कि किशोरी की हठ से तंग आकर उसकी हत्या कर दी गई और कुछ लोग गांव के शमशान भूमि के शव फूंकने लगे. इस पर किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अधजला शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेज दिया.

पढ़ें: ऑनर किलिंग : झूठी शान के लिए पिता ने की बेटी की हत्या

पड़ोसियों ने बंद की जुबान, कोई कुछ बोलने को राजी नहीं

घटना के बाद पुलिस जब नदेली गांव पहुंची, तो कोई बोलने को तैयार नहीं था. सभी लोग पुलिस को देखकर घरों में घुस गए. किशोरी के परिजन भी फरार हो गए, जबकि उसकी मां बेसुध घर में पड़ी थी.

पहले की आरोपियों के घरों में तोड़फोड़, अब किशोरी की हत्या

किशोरी के फरार होने के अगले दिन किशोरी के परिजनों और गांव वालों ने मिलकर आरोपी युवक और उसके परिजनों के घरों में तोड़फोड़ कर आग लगा दी थी. पुलिस ने दोनों पक्षों पर मुकदमा दर्ज कर युवक को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया था. बताया जाता है कि माता-पिता के समझाने के बावजूद लड़की लड़के के पक्ष में ही बयान देने वाली थी. इस बात से खफा परिजनों ने किशोरी की हत्या कर दी.

पढ़ें: यूपी: अलीगढ़ में पिता ने की 20 साल की बेटी की हत्या, फिर किया सरेंडर

पुलिस की भी रही लापरवाही

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से गांव में पहले से तनाव की स्थिति है. किशोरी के परिजन आरोपी युवक का घर फूंक चुके हैं. पुलिस ने घर फूंकने वालों को जेल भेज इस प्रकरण से आंखें मूंद ली. अगर पुलिस किशोरी और उसके परिजनों पर नजर जमाये रहती तो शायद इस तरह की घटना नहीं होती. एसपी ग्रामीण सतीश कुमार ने बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. मामले की चल रही है. आरोपियों को जल्‍द गिरफ्तार का जेल भेजा जाएगा.