फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में एक हैरानी भरा मामला सामने आया है, आरोप है कि उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जनपद के ललौती थाना क्षेत्र के एक गांव में एक ससुर ने अपनी विधवा बहू से जबरन सम्बन्ध बनाने की कोशिश की और जब वो इसमें नाकाम हो गया तो उसने गुस्से में आकर अपनी विधवा बहू को गोली मार दी और फिर खुद को गोली मार कर जान दे दी. गोली की आवाज सुन कर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी और घायल बहू को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया. उधर मौके पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई.

जानकारी के मुताबिक ललौली थाना क्षेत्र के हिंतापुर गांव निवासी झल्लू के इकलौते बेटे संतोष की बीमारी के कारण सात साल पहले मौत हो गई थी. जिसके बाद से झल्लू अपनी विधवा बहू और उसके दो बच्चों दिलीप व प्रदीप के साथ रहता था. आरोप है कि झल्लू अपनी विधवा बहू पर बुरी नजर रखने लगा था. वह कई बार अपने बहू से जबरन संबंध बनाने की नाकाम कोशिश कर चुका था. खबरों के मुताबिक बीती रात भी झल्लू ने बहू से सम्बन्ध बनाने का प्रयास किया, लेकिन बहू के विरोध के आगे वह सफल नहीं हो सका.

पुलिस के मुताबिक इसी बात को लेकर रविवार सुबह बहू और झल्लू के बीच विवाद हो गया और झल्लू बहू की पिटाई कर घर से बाहर चला गया. कुछ देर बात वह लौटा और दरवाजे पर झाड़ू लगा रही बहू को तमंचे से गोली मार दी. गोली कमर में लगते ही बहू जमीन पर गिर पड़ी. बहू को मरा समझ झल्लू ने खुद के सीने में गोली मार ली और उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

गोली की आवाज सुन कर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की सूचना दी और महिला को पीएसची पहुंचाया, जहां से उसे पहले जिला अस्पताल और फिर कानपुर रेफर कर दिया गया, जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है. उधर मौके पर पहुंची पुलिस ने झल्लू के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज तफ्तीश शुरू कर दी है.

(इनपुट: IANS)