उत्तर प्रदेश: लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के ट्रॉमा सेंटर  में शनिवार रात लगी भीषण आग में 5 लोगों की मौत हो गई. इस घटना के बाद रविवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केजीएमयू का दौरा किया और हालात का जायजा लिया. मुख्यमंत्री ने ट्रामा सेंटर के साथ ही पास के अस्पतालों का करीब 40 मिनट तक दौरा किया.

योगी ने की मरीजों से मुलाकात
हालातों का जायजा लेने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को ट्राॅमा सेंटर पहुंचे. जहां उन्होंने भर्ती मरीजों से मुलाकात कर हालचाल पूछा. वहीं आग कैसे लगी इसकी जानकारी भी सीएम योगी केजीएमयू और पुलिस प्रशासन से बातचीत कर ली. मौके पर डीजीपी सुलखान सिंह समेत कई वरिष्ट अधिकारी मौजूद है.  किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में आग लगने के बाद पीड़ितों का आरोप है कि देर तक इलाज नहीं मिला. यहां तक कि अस्पताल में ट्रामा सेंटर की वैकल्पिक व्यवस्था नहीं थी.

 योगी ने 3 दिनों में मांगी रिपोर्ट 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर चलाने के निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने आग लगने की घटना का तत्काल संज्ञान लेते हुए मंडलायुक्त को जांच कर 3 दिन में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं.

 ट्रामा सेंटर में शनिवार रात आग लगने के कारण मची अफरातफरी में 5 लोगों ने दम तोड़ दिया था. जिनमें 2 बच्चे भी शामिल हैं. जिस पर प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा अनीता जैन भटनागर ने बताया कि आग लगने के कारण ट्रामा सेंटर से मरीजों को शहर में 8 जगह पर शिफ्ट किया गया.घटनाक्रम के मुताबिक आग सेकेंड फ्लोर स्थित एडवांस ट्रामा लाइफ सपोर्ट (एटीएलएस) वार्ड में लगी और देखते ही देखते विकराल होकर तीसरे फ्लोर पर मेडिसिन स्टोर तक पहुंच गई. कोई अपने मरीज को गोद में लेकर भागा तो कोई कंधे पर उठाकर बाहर आया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, ट्रॉमा के गेट से बाहर आते ही कई मरीजों की हालत बिगड़ने लगी. इनमें ट्रॉमा सेंटर से बाल रोग विभाग में ले जाए गए कई नवजात भी थे.