लखनऊ। गोरखपुर के बाबा राघवदास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज में पिछले तीन दिनों में 68 मौतों की खबर आ रही है. मामले की गंभीरता को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर का दौरा पर हैं. आदित्यनाथ अस्पताल अस्पतला पहुंच चुके हैं. शनिवार को सीएम योगी ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा था कि अस्पताल में एक भी मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है. उन्होंने मीडिया को सही आंकड़े पेश करने की हिदायत भी दी. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हालात पर नजर बनाए हुए हैं.

योगी आदित्यनाथ ने कही ये बातेंः-

  • सीएम योगी ने कहा कि हम इस घटना के प्रति संवेदनशील हैं. प्रधानमंत्री मोदी भी इस मसले पर नजर बनाए हुए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने भी हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है.
  • सीएम योगी ने कहा कि तथ्यों को सही ढंग से रखा जाना चाहिए. मैंने अपने मंत्रियों को निर्देश देकर भेजा था कि मौत के सही आंकड़े पता करिए. और यह पता करिए कि लापरवाही किस स्तर पर हुई है?
  • यदि ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हुई तो उसकी भूमिका की जांच के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की गई है.
  • अगर ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई तो यह जघन्य कृत्य है. मैंने खुद बीआरडी मेडिकल कॉलेज का दौरा किया है. उस दौरान सुनिश्चित किया था इंसेफलाइटिस के उपचार की समुचित व्यवस्था हो.
  • गोरखपुर हादसे के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

अब तक क्या-क्या हुआ?
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पांच दिनों के भीतर हुई 60 से अधिक बच्चों की दर्दनाक मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है. शनिवार को यूपी सरकार ने अस्पताल के प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया. ऑक्सीजन की सप्लाई खत्म होने की उच्च स्तरीय जांच के भी आदेश दिए गए. हालाकि मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन से हुई मौतों से साफ इनकार कर दिया. बता दें कि गोरखपुर पिछले 20 सालों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का चुनाव क्षेत्र है.