मुरादाबाद: अब तक ट्रेन में लूटपाट होती थी, लेकिन अब स्टेशन पर प्लेटफार्म पर लूट का मामला सामने आया है. पौड़ी गढ़वाल से मुरादाबाद तक यात्रा कर रहे नायब सूबेदार का प्लेटफार्म नंबर छह पर शनिवार रात लूटपाट का विरोध जताने पर चार बदमाशों ने बायां हाथ काट दिया. नायब सूबेदार से मोबाइल, पांच हज़ार रुपए की नकदी व उनका आईकार्ड भी लूट लिया. नायब सूबेदार को इलाज के लिए मेरठ रेफर किया गया है.

उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के रहने वाले गोविंद सिंह रावत मणिपुर में सेना में नायब सूबेदार के पद पर तैनात हैं. वह एक माह की छुट्टी ख़त्म होने के बाद वापस ड्यूटी के लिए जा रहे थे. मुरादाबाद से उन्हें अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन से मणिपुर जाना था. रात को वह पैसेंजर ट्रेन से मुरादाबाद पहुंचे. यहाँ वह प्लेटफार्म नंबर छह पर उतर गए. गोविंद सिंह रावत के मुताबिक़ वह प्लेटफार्म पर थे. इसी दौरान चार बदमाश आए और उन्हें जबरदस्ती पीछे की ओर ले गए. यहाँ बदमाशों ने उनके साथ लूटपाट शुरू कर दी. उन्होंने इसका विरोध किया तो बदमाशों ने धारदार हथियार से उनका कोहनी से नीचे बायाँ हाथ काट दिया.

ये भी पढ़ें: सिग्नल प्वाइंट पर सिक्का डालकर ट्रेन लूटने वाले दो बदमाश गिरफ्तार

पुलिस ने घटना को बताया संदिग्ध
घायल गोविंद सिंह रावत रात में मालगोदाम के पास बेसुध हालत में पड़े थे. उन्हें बेसुध हालत में देख राहगीरों ने कंट्रोल रूम में सूचना दी. मौके पर पहुंची एम्बुलेंस के जरिए घायल गोविंद सिंह रावत को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. रेलवे ट्रैक से हाथ का कटा हुआ हिस्सा भी बरामद हो गया. जीआरपी और गलशहीद पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर गोविंद सिंह से घटना की जानकारी ली. घायल नायब सूबेदार को जिला अस्पताल से मेरठ रेफर किया गया है. जीआरपी इंस्पेक्टर पंकज पंत ने बताया कि प्लेटफार्म नंबर छह पर लूट की घटना संदिग्ध है क्योंकि प्लेटफार्म पर पुलिस बल मौजूद था. ऐसे में घटना कब कैसे हुई इसकी जांच की जा रही है. ये भी हो सकता है कि वह ट्रेन से गिर गए हों, और किसी भारी चीज के नीचे हाथ दबकर कट गया हो क्योंकि मेडिकल रिपोर्ट में कुछ ऐसा ही आया है.