लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में पुलिस की बर्बरता का भयानक रूप देखने में आया है. यहां की पुलिस ने एक युवक को रेप का जुर्म कबूल करने के लिए बेरहमी से पीटा. पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद पुलिस के हाथ-पैर फूल गए. आला अफसरों ने तत्काल पिटाई करने वाले दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, घोसी कोतवाली क्षेत्र में एक नाबालिग लड़की अपनी मौसी के यहां रहकर पढ़ाई करती थी. लड़की के परिजनों ने गांव के ही एक युवक पर आरोप लगाया था कि युवक उनकी बेटी को शादी का झांसा देकर 13 मार्च को अपने संग भाग ले गया था. युवक ने लड़की को 13 दिनों तक अपने साथ रखा और उसके साथ दुराचार किया. 13 दिन बाद युवक, लड़की को घर पर वापस छोड़ गया.

 

आरोपी युवक को छोड़ा

घरवालों ने इस मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई. पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार करके नाबालिग को मेडिकल के लिए भेज दिया. पुलिस का कहना है कि मेडिकल में रेप की पुष्टि नहीं हुई.  जिसके बाद आरोपी युवक को छोड़ दिया गया. हालांकि पीड़िता ने भी परिजनों के युवक के खिलाफ लगाए आरोपों को गलत ठहराया था.

सोशल मीडिया में आए वीडियो से हड़कंप 

यह मामला अभी चल ही रहा था कि सोशल मीडिया में आए वीडियो से हड़कंप मच गया. इस वीडियो में थाने का एक दरोगा आरोपी युवक को खंभे से बांधकर पट्टे से पिटाई कर रहा है. साथ ही साथ दरोगा, युवक को जुर्म कबूलने  के लिए जमकर पीट भी रहा है. वायरल वीडियो के बाद आला पुलिस अधिकारियों  में हड़कंप मच गया. पुलिस के आला अधिकारियों ने आरोपी दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी है.