लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप केस में यूपी सरकार ने आज इलाहाबाद हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखा. इस दौरान सरकार ने कहा कि आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं हैं. पर्याप्त सबूत के बाद ही विधायक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में अब तक कानून के मुताबिक कार्रवाई हो रही है. बताया जा रहा है कि यूपी सरकार के जवाब से इलाहाबाद हाई कोर्ट ने नाराजगी जताई. हाई कोर्ट ने सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा लिया, शुक्रवार को फैसले का ऐलान होगा.

आज हाई कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा था कि वह एक घंटे में बताए कि विधायक की गिरफ्तारी कब होगी. हाई कोर्ट ने इस मामले में स्वत संज्ञान लेते हुए सरकार से ये सवाल पूछा था. हालांकि कोर्ट के रुख के बावजूद कुलदीप सेंगर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई और अब तक वह आजाद घूम रहे हैं.

उन्नाव गैंगरेप: SSP आवास पर विधायक कुलदीप सेंगर का सियासी ड्रामा, कहा- मेरे खिलाफ हुई साजिश, दोषी हूं तो सजा मिले

उन्नाव गैंगरेप: SSP आवास पर विधायक कुलदीप सेंगर का सियासी ड्रामा, कहा- मेरे खिलाफ हुई साजिश, दोषी हूं तो सजा मिले

सेंगर के खिलाफ केस दर्ज, पर गिरफ्तारी नहींं

गैंगरेप केस में सेंगर के खिलाफ आज पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है, लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. इस बीच हाई कोर्ट ने स्वत संज्ञान लेते हुए यूपी सरकार से तीखे सवाल पूछे. कोर्ट के दखल के बावजूद सेंगर के खिलाफ फिलहाल कोई कार्रवाई होती नहीं दिख रही है. यूपी पुलिस अभी पुख्ता सबूतों का इंतजार कर रही है.

इस मामले में योगी सरकार ने एसआईटी का गठन भी किया था जिसे बुधवार शाम तक अपनी रिपोर्ट सौंपनी थी, लेकिन इस रिपोर्ट का क्या हुआ ये साफ नहीं हुआ है. बुधवार को इसे लेकर बड़ा सियासी ड्रामा भी हुआ. आरोपी विधायक लखनऊ में एसएसपी आवास पर पहुंचे. लेकिन एसएसपी यहां नहीं मिले. बताया जा रहा था कि वह सरेंडर करने पहुंचे हैं.

इस दौरान मीडिया से बातचीत में सेंगर ने कहा कि मैं निर्दोष हूं, मुझ पर लगाए गए आरोप झूठे हैं. मेरे खिलाफ साजिश की जा रही है. मैं किसी भी तरह की जांच का सामना करने को तैयार हूं. अगर मेरा दोष साबित हो जाए तो मुझे सजा दी जाए. उन्होंने कहा, मैं किसी भी वक्त पुलिस के बुलाने पर हाजिर हो जाऊंगा. मुझे भगोड़ा कहा जा रहा था इसीलिए सामने आया ताकि सच बता सकूं.