लखनऊ: सीबीआई की विशेष अदालत ने उन्नाव रेप कांड के आरोपी बीजेपी विधायक को सात दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है. सीबीआई ने हालांकि विधायक के लिए 14 दिन के हिरासत की मांग की थी, लेकिन अदालत ने फिलहाल सात दिन की हिरासत मंजूर किया.

इससे पहले सीबीआई ने उन्नाव गैंगरेप के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को शुक्रवार को अरेस्ट किया था. उनसे 18 घंटे तक पूछताछ के बाद सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया. कोर्ट जाते समय विधायक ने कहा कि मुझे भगवान पर भरोसा है और न्यायपालिका में भी पूरा विश्वास है. सब कुछ सामने आ जाएगा.

मामला सीबीआई को सौंपे जाने के बाद जांच एजेंसी ने उन्नाव के माखी पुलिस स्टेशन जाकर पूछताछ की. पीड़िता के पिता को पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने के बाद यहीं रखा गया था. सीबीआई ने उस अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ से भी पूछताछ की जहां मारपीट के बाद पीड़िता के पिता को भर्ती किया गया था.

बता दें कि 8 अप्रैल को उन्नाव की युवती ने अपने परिवार के साथ मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्महत्या की कोशिश की थी. 9 अप्रैल को युवती के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी. मामले के जोर पकड़ने के बाद दो पुलिस अधिकारियों और चार कॉन्स्टेबल को सस्पेंड किया गया था. हालांकि, आरोपी विधायक को गिरफ्तार नहीं किया गया था. राज्य सरकार ने कहा था कि विधायक के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं. लेकिन हाई कोर्ट की फटकार और मामला सीबीआई को सौंपे जाने के बाद विधायक को गिरफ्तार किया गया.