लखनऊ: उन्नाव रेप केस मामले में सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज की है. इसके साथ ही भाजपा विधायक पर सीबीआई ने कुल चार एफआईआर दर्ज कर ली है. इसके साथ ही सीबीआई ने शशि सिंह के बेटे शुभम को भी आरोपी बनाया है. बता दें कि भाजपा विधायक के करीबी सहयोगी शशि सिंह को मंगलवार को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

उन्‍नाव रेप केस मामले में सीबीआई ने माखी थाने में दर्ज एफआईआर के आधार पर केस दर्ज किया है. इस मामले में शशि सिंह के बेटे शुभम सिंह और अवधेश तिवारी के खिलाफ पीड़िता को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का आरोप है. बाद में पीड़िता के बयान के आधार पर इस मुक़दमे में सामूहिक दुष्कर्म की धारा 376D को जोड़ते हुए नरेश तिवारी व दो अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया था. अब सीबीआई पीड़िता से जुड़े पुराने विवादों की भी कड़ियां जोड़ने में जुटी है.

 

यह है पूरा मामला
आठ अप्रैल दिन रविवार को सीएम आवास के सामने युवती ने परिवार के साथ सुसाइड की कोशिश की थी. युवती ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप का आरोप लगाया था. 9 अप्रैल को युवती के पिता की उन्नाव में पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी. इसके बाद हड़कंप मच गया. मामले में दो पुलिस अधिकारियों व चार कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया था. बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता के पिता को 3 अप्रैल को पीटने वाले चार लोगों को अरेस्ट किया गया था. 13 अप्रैल को इस मामले में बीजेपी विधायक को भी अरेस्ट कर लिया गया. इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से पूछा था कि वह रेप के आरोपी बीजेपी विधायक की गिरफ्तारी करेगी या नहीं. सरकार कह रही थी कि विधायक को अरेस्ट नहीं किया जा सकता क्योंकि उनके खिलाफ़ कोई सुबूत नहीं हैं, लेकिन हाईकोर्ट की फटकार के बाद विधायक को अरेस्ट कर लिया गया.

यह भी पढ़ें: उन्नाव रेप केस: सीबीआई ने पीड़िता को विधायक के पास ले जाने वाली महिला को गिरफ्तार किया

कोर्ट ने सात दिन की रिमांड पर भेजा
14 अप्रैल शनिवार की शाम सीबीआई विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआई की विशेष कोर्ट लेकर पहुंची थी. सीबीआई कोर्ट के सीजेएम सुनील कुमार ने दो घंटे तक सुनवाई की. सीबीआई ने 14 दिन की रिमांड की मांग की थी, लेकिन सीजेएम ने विधायक को सात दिन की रिमांड पर ले जाने की अनुमति दी. पेशी के दौरान कोर्ट में पेश होने जाते हुए बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा था कि मुझे भगवान में भरोसा है. उन्होंने कहा कि मुझे न्याय पालिका पर भी भरोसा है. इस दौरान सीबीआई के सामने वह रो पड़े थे. 14 अप्रैल, शनिवार की शाम विधायक की सहयोगी शशि सिंह को भी अरेस्ट कर लिया गया था. शशि सिंह को 15 अप्रैल को विशेष कोर्ट ने 4 दिन की सीबीआई रिमांड पर भेजा है. शशि सिंह पर आरोप है कि वह ही पीड़िता को बीजेपी विधायक के घर लेकर गई थी.

गांव में दोनों के बारे में छानबीन कर रही सीबीआई
सीबीआई जांच के लिए कई बार घटनास्थल माखी गांव जा चुकी है. सीबीआई गांव के लोगों से पीड़िता और विधायक के बारे में पूछताछ कर चुकी है. सीबीआई ने विधायक के घर पहुंच भी घटना की जानकारी ली. इससे पहले 14 अप्रैल रविवार पीड़िता के चाचा ने आरोप लगाया था कि उन्हें विधायक के गुर्गों द्वारा धमकी दी जारी है. गांव के लोगों को भी धमकाया जा रहा है. इसके बाद सुरक्षा कारणों से उन्नाव के होटल से पीड़िता और उसके परिवार को सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में शिफ्ट कर दिया गया था.