लखनऊ: उन्नाव रेप केस की जांच में जुटी सीबीआई की टीम मंगलवार को उन्‍नाव पहुंची. सीबीआई ने सात सदस्‍यीय टीम दोपहर में माखी गांव गई. बताया जा रहा है कि सीबीआई पीडि़ता को साथ लेकर एक बार फिर गांव वालों से पूछताछ कर सकती है. हालांकि गांव में सीबीआई की टीम पहुंचने से लोग आसपास चले गए. गांव के लोग सीबीआई टीम से बचते दिखे. माना जा रहा है गांव पहुंची सीबीआई, टीम से हरी झंडी मिलने के बाद रेप पीड़िता को भी गांव ले जा सकती है. साथ ही आरेापी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर और उनकी सहयोगी शशि सिंह को भी गांव लाया जा सकता है.

 

जानकारी के मुताबिक, सोमवार को उन्नाव की रेप पीड़िता और उसकी मां को सीबीआई की टीम लखनऊ ले गयी थी. लखनऊ में रेप पीड़िता की सीबीआई आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनकी कथित सहयोगी शशि सिंह से कराने की उम्मीद थी, लेकिन उसे कोर्ट में पेश करके बयान कराए गए और वापस उन्नाव ले आया गया. सीबीआई की तीन सदस्यीय टीम सोमवार को सुबह करीब सवा दस बजे उन्नाव में सिंचाई डाक बंगले पर पहुंची, जहां पीड़िता का परिवार रुका हुआ है.

यह भी पढ़ें: उन्नाव रेप केस: विधायक पर CBI ने दर्ज की चौथी एफआईआर

कुछ देर में ही टीम पीड़िता और उसकी मां को लेकर कड़ी सुरक्षा में लखनऊ के लिए रवाना हो गई. डाक बंगले पर सीबीआई टीम ने एक बार फिर से मीडिया को चकमा दिया, मीडिया से कहा कि पीड़िता और उसकी मां को उसके गांव ले जाया जाएगा लेकिन कुछ दूर चलकर सीबीआई टीम ने रास्ता बदल दिया. सिविल लाइंस के रास्ते आवास विकास होते हुए सीबीआई लखनऊ हाईवे पर पहुंची और यहां से टीम दोनों लोगों को लेकर लखनऊ निकल गयी. आरोपी विधायक को भी पहले उनके गांव नहीं लाए जाने की चर्चा थी लेकिन फिलहाल उनको लखनऊ में ही रखा गया है.