लखनऊ: एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार करके यूपी और अन्य राज्यों के लोगों के बैंक खातों से करोड़ों की रकम उड़ाने वाले अंतरराज्यीय गैंग के चार जालसाज हजरतगंज पुलिस और साइबर सेल के हत्थे चढ़ गए. पुलिस ने मंगलवार को केडी सिंह बाबू स्टेडियम के पास स्थित एसबीआई एटीएम के पास से चारों को पकड़ लिया. पकड़े गए जालसाजों में गिरोह का सरगना भी शामिल है. पूछताछ के मुताबिक, आरोपियों ने ज्यादातर घटनाओं को बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम कक्ष में अंजाम दिया है.

जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि कुछ दिन पहले कई राज्यों में डेबिट कार्ड क्लोनिंग कर लोगों के बैंक खातों से रुपये निकालने वाला एक गिरोह लखनऊ में भी सक्रिया हो गया है. इसकी सूचना साइबर सेल के नोडल अधिकारी अभय मिश्रा को दी गई. साइबर सेल की टीम गिरोह के सदस्यों पर नजर रखे हुए थी. इस बीच मुखबिर से सूचना मिली कि गिरोह का मुख्य सरगना कुछ साथियों के साथ हजरतगंज के स्टेडियम रोड स्थित एसबीआई एटीएम से रुपये निकालने पहुंचा है. हजरतगंज पुलिस और साइबर सेल की टीम ने गिरोह के लोगों को क्लोनिंग के डेबिट कार्डों से एटीएम से रुपये निकालते पकड़ लिया.

गोंडा का रहने वाला है मुख्य सरगना

पकड़े गए आरोपियों में गोंडा का रहने वाला अनिल कुमार वर्मा गिरोह का मुख्य सरगना है. इसके इशारे पर ही गिरोह के सदस्य शुभम पांडेय, अमित सिंह और हसन शाह दूसरे राज्यों में जाकर डेबिट कार्ड क्लोनिंग करते थे. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि करीब डेढ़ करोड़ से ऊपर की रकम अबतक एटीएम मशीन से निकाल चुके हैं.

बैंकों से रिजेक्टेड 22 डेबिट कार्ड, 18 क्लोनिंग डेबिट कार्ड आदि बरामद

आरोपियों के पास से बैंकों से रिजेक्टेड 22 डेबिट कार्ड, 18 क्लोनिंग डेबिट कार्ड, लैपटॉप, कार्ड राइटर, मिनी डी एक्स स्कीमर मशीन, स्वाइप मशीन, 15 हजार रुपये और दो कार बरामद हुईं हैं. पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम गोंडा निवासी अनिल कुमार वर्मा, शुभम पांडेय, सीतापुर निवासी अमित सिंह और हसनगंज निवासी हसन शाह बताया है. इस गिरोह का मुख्य सरगना अनिल है.

बैंक ऑफ बड़ौदा के कर्मचारी से 50 रुपए में खरीदते थे ब्लैंक एटीएम कार्ड

पुलिस के मुताबिक, डेबिट कार्ड का क्लोन तैयार करने के लिए एक खराब कार्ड की जरूरत होती है. इसके लिए जालसाजों ने गोंडा में बैंक ऑफ बड़ौदा के एक कर्मचारी को सांठगांठ कर ली. आरोपियों ने बताया कि बैंक कर्मचारी लोगों के खराब डेबिट कार्ड 50 रुपये के हिसाब से बेचता था. पुलिस का कहना है कि जल्द ही उसको भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.