लखनऊ: गलत मौके पर शराब किस कदर भारी पड़ सकती है, यह कोई उन दूल्हे राजा से पूछे जिनकी शादी की ख्वाहिश पूरी होते-होते रह गई. पूरे तामझाम के साथ बरात लेकर पहुंचा दूल्हे राजा के कदम वरमाला के दौरान बहके से दिखे. दुल्हन को शराब की महक आई. जयमाल के दौरान ही दुल्हन ने शादी से मना कर दिया. वरमाला लिए खड़े दूल्हे राजा और बाकी सभी हक्के बक्के रह गए. पुलिस आई, बातचीत हुई, लेकिन आख़िरकार दूल्हे को खाली हाथ ही लौटना पड़ा.

वरमाला के दौरान नशे में था दूल्हा
घटना लखनऊ से सटे सीतापुर जिले के कमलापुर थाना इलाके के गांव पतारा कला का है. यहां के रहने वाले सुरेश प्रकाश की बेटी चांदनी की शनिवार को शादी थी. सभी तैयारियां पूरी थी. खाना चल रहा था. शाम में तय समय पर बरात आई. नाचते झूमते बराती लड़की पक्ष के द्वार पहुंचे. वरमाला के लिए दूल्हा स्टेज पर पहुंचा. दुल्हन भी पहुंच चुकी थी. वरमाला पहनाने के ठीक पहले दूल्हा कुछ बहका सा दिखा. उसके कदम कुछ लड़खड़ा रहे थे. इसी दौरान दुल्हन को दूल्हे के नशे में होने की भनक लग गई. दुल्हन ने तुरंत ही शादी से मना कर दिया.

ये भी पढ़ें: शराब पीकर मंडप में पहुंचा दूल्हा तो दुल्हन ने लौटाई बारात

ज़िद पर अड़कर लौटा दी बरात
दुल्हन ने कहा कि वह एक शराबी को अपना पति नहीं बनाएगी. दुल्हन का यह फैसला सुनते ही हड़कंप मच गया. दूल्हा पक्ष भड़क गया. मारपीट तक की नौबत आ गई. दूल्हा हंगामा करने लगा. सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने भी समझाने की कोशिश की, लेकिन ज़िद पर बनी रही दुल्हन के आगे किसी की नहीं चली. आख़िरकार दूल्हे को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा.

दुल्हन बोली- नशेड़ी से शादी नहीं कर सकती
दुल्हन चांदनी के इस फैसले की तारीफ हो रही है. चांदनी ने बताया कि एक शख्स अपनी शादी के दिन ही नशे में था. वह ऐसे शख्स से शादी नहीं कर सकती जो इस दिन भी बिना पिए नहीं रह सकता था. मुझे नशेड़ी के साथ जिंदगी नहीं बितानी.