इलाहाबाद: लगातार सामने आ रही रेप की घटनाओं और उन्नाव रेप केस के बीच इलाहाबाद के शिवकुटी मोहल्ले में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं का प्रवेश प्रतिबंधित किए जाने के पोस्टर चस्पा कर दिए गए. ये पोस्टर इलाके में चर्चा का विषय बन गए हैं. पोस्टर्स पर लिखा है कि ‘इस मोहल्ले में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं का आना मना है क्योंकि यहां महिलाएं और बच्चियां रहती हैं.’

ये भी पढ़ें: उन्नाव रेप केस: अर्श से फर्श पर पहुंची सत्ता की हनक, सीबीआई के सामने फफक कर रो दिए विधायक

ये पोस्टर इलाहाबाद के शिवकुटी मोहल्ले में कई घरों के बाहर लगे हैं. पोस्टर्स में बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं को मोहल्ले में घुसने की मनाही की गई है. इसमें निवेदक समस्त मोहल्लावासी लिखा हुआ है. बता दें कि कुछ दिन पहले ही तमिलनाडु व कुछ और इलाकों में भी ऐसे पोस्टर्स लगे देखे गए थे. ये पोस्टर्स आम लोगों द्वारा लगाए जा रहे हैं या कोई और लगा रहा है, इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है.


बता दें कि उन्नाव और कठुआ गैंगरेप मामले के बाद रेप की घटनाओं को लेकर आक्रोश है. यूपी में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर उन्नाव की युवती पर रेप के आरोप के बाद त्वरित कार्रवाई नहीं किए जाने पर लोगों में आक्रोश है. युवती ने 8 अप्रैल को सीएम ऑफिस, लखनऊ के बाहर सुसाइड करने का प्रयास किया था. इसके बाद 9 अप्रैल को ही युवती के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी. इसके बाद भी यूपी सरकार द्वारा विधायक पर कार्रवाई नहीं किए जाने की बात कही जा रही थी. हाई कोर्ट की फटकार के बाद विधायक के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज हुआ. मामले की जांच सीबीआई को दी गई. 13 अप्रैल को बीजेपी विधायक को अरेस्ट कर लिया है. आज विधायक को सीबीआई की विशेष कोर्ट में पेश किया गया. जहां से विधायक को सात दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.