लखनऊ: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अमेठी में एक सड़क का उद्घाटन करने से रोक दिया गया. राहुल को अमेठी जिला प्रशासन ने सड़क का उद्घाटन नहीं करने दिया. उन्हें इसकी इजाज़त नहीं दी गई. सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनाई गई है. राहुल अमेठी के सांसद भी हैं. कांग्रेस का कहना है कि सड़क का काम राहुल गांधी ने शुरू कराया था. वह केवल यहां इसका जायजा लेने गए थे. उद्घाटन करने नहीं गए थे.

अमेठी के एक गांव में बनी है सड़क
बता दें कि राहुल गांधी अमेठी के दो दिवसीय दौरे पर हैं. वह आज ही अमेठी पहुंचे हैं. उन्होंने यहां कई सभाएं की. उन्हें कई योजनाओं का लोकार्पण और शिलांयास करना था. बताया जा रहा है कि वह अमेठी के ठौरी और कोटवा गांव से जुड़ने वाली एक नव निर्मित सड़क का उद्घाटन करने पहुंचे. यह सड़क पांच किलोमीटर लंबी है. प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनी सड़क को बनाने के लिए तीन करोड़ से अधिक रुपए खर्च किए गए हैं. टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार उद्घाटन करने पहुंचे राहुल को प्रशासन ने उन्हें रोक दिया.

ये भी पढ़ें: अमेठी दौरे पर राहुल गांधी: कहा- हम सत्ता में रहें न रहें, अमेठी का विकास करते रहेंगे

बीजेपी नेताओं के विरोध के बाद एसडीएम ने रुकवाया उद्घाटन
बताया जा रहा है कि बीजेपी के जिलाध्यक्ष उमाशंकर पांडे ने राहुल गांधी के सड़क का उद्घाटन करने का विरोध दर्ज किया. इसके बाद जिला प्रशासन सक्रिय हुआ. उन्होंने कहा कि सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनी है और अभी इसका काम पूरा भी नहीं हुआ है. राहुल गांधी इस काम का क्रेडिट लेना चाहते हैं. बीजेपी नेताओं की आपत्ति के बाद एसडीएम अभय पांडे मौके पर पहुंचे. उन्होंने बताया कि उद्घाटन नहीं करने दिया गया है क्योंकि सड़क का निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है.

कांग्रेस ने कहा- सिर्फ जायजा लेने गए थे राहुल
वहीं, इसे लेकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा ने कहा कि यह कोई उद्घाटन कार्यक्रम नहीं था. सड़क का काम राहुल गांधी द्वारा शुरू कराया गया था. वह यहां इसका जायजा लेने गए थे. बता दें कि राहुल गांधी ने आज से शुरू हुए अपने अमेठी के दौरे के बीच पीएम मोदी पर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी अमेठी का विकास नहीं चाहते, इसलिए उन्होंने यहां फ़ूड पार्क बनने से रुकवा दिया. इससे लोगों का रोजगार छिन गया. उन्होंने यह भी कहा था कि वह सत्ता में रहें न रहें लेकिन अमेठी का विकास करते रहेंगे.