इटावा: यूपी में रेप और हत्याओं की बढ़ती घटनाओं के बीच इटावा में दो बहनों की हत्या कर दी गई. आज सुबह दोनों के शव आस-पास पड़े मिले. हत्या क्यों की गई. दोनों को किसने मारा. यह पुलिस भी समझ नहीं पा रही है. पुलिस मौके पर फॉरेंसिक टीम को लेकर पहुंची है. घटना से लोग सकते में हैं. दोनों बहनें नाबालिग हैं. इटावा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का गृह जनपद है.

ये भी पढ़ें: यूपी: एटा में शादी समारोह में गई 8 साल की बच्ची से दरिंदगी, रेप के बाद परिजनों के सामने ही गला दबाकर मार डाला

मौके से मिले कारतूस के खोखे
घटना बसरेहर के कैलामऊ गांव की है. बताया जा रहा है कि दोनों बहनें 16 अप्रैल सोमवार की शाम घर से निकली थीं. दोनों खेतों की ओर गई थीं. देर रात वह घर नहीं लौटीं. तलाशने के बाद भी दोनों नहीं मिली. आज सुबह दोनों के शव खेत में पड़े मिले. इससे हड़कंप मच गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना की जांच शुरू की. घटना की वजह और हत्यारों तक पहुंचने के लिए यहां फॉरेंसिक टीम से जांच कराई गई है. पुलिस को घटना स्थल पर ही कारतूस के खोखे भी मिले हैं.

दोनों को आखिर क्यों मारा, पुलिस भी कुछ कहने की स्थिति में नहीं
दोनों बहनों की हत्या आखिर क्यों की गई, इस सवाल का जवाब नहीं मिल रहा है. हर कोई हैरान है कि दोनों बहनों को आखिर इस तरह से क्यों मार डाला गया. ऐसा किसने किया. जवाब तलाशने के लिए पुलिस गांव के लोगों से पूछताछ कर रही है. परिजनों का कहना है कि दोनों शौच के लिए निकली थीं. उन्हें नहीं पता कि आखिर ऐसा किसने किया और क्यों किया. दोनों सगी बहनों की हत्या की खबर मिलने के बाद मुख्यालय से एसएसपी समेत कई आला अफसर घटनास्थल पर मुआयना करने पहुंचे. एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने कहा कि जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा. घटना क्यों हुई, किसने की, पुलिस ये जवाब देने की स्थिति में नहीं है. उन्होंने बताया कि फॉरेंसिक जांच कराई गई है. शवों के पोस्टमार्टम कराए जा रहे हैं.