लखनऊ: यूपी में करीब एसपी और बीएसपी अब एक दूसरे का दुख दर्द बांटती नजर आ रही हैं. दोनों पार्टियों में गठजोड़ के बाद शुक्रवार को राज्यसभा में बीएसपी के उम्मीदवार की हार के बाद एसपी ने अपने कार्यालय में होने वाले जीत के जश्न को स्थगित कर दिया है. समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर राज्यसभा में जीत के बाद एक समारोह का आयोजन होना था, जिसमें पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत सभी बड़े नेताओं को भाग लेना था. राज्यसभा चुनाव में सपा प्रत्याशी जया बच्चन तो जीत गई, लेकिन सपा समर्थित बसपा प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर हार गए. इसके बाद यह समारोह स्थगित कर दिया गया. बता देें  कि शुकवार को जय बच्चन की जीत पर डिनर रखा गया था, लेकिन शनिवार को होने वाल जश्न का कार्यक्रम रद्द कर दिया है.

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता और विधानपरिषद सदस्य सुनील सिंह साजन ने बताया, ”आज पार्टी मुख्यालय में एक समारोह का आयोजन किया जाना था, जिसमें दोनों पार्टियों के जीते हुए प्रत्याशियों को शामिल होना था, लेकिन चूंकि हमारे सहयोगी दल बसपा का प्रत्याशी चुनाव हार गया इस लिए अब इस समारोह का कोई औचित्य नहीं है, इसीलिए यह कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया.” उन्होंने कहा कि हमारे सहयोगी दल बसपा के प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर चुनाव जीत जाते, लेकिन सत्तारूढ़ दल ने पैसे और सत्ता का गलत इस्तेमाल कर अपने नौंवे प्रत्याशी को चुनाव जिता लिया.

क्रॉस वोटिंग पर राजभर ने अपने 2 एमएलए से मांग स्पष्टीकरण
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने राज्यसभा चुनाव में क्रास वोटिंग किए जाने की खबरों के बाद अपने दो विधायकों से स्पष्टीकरण मांगा है. राजभर ने कहा, ‘मीडिया में अपने दो विधायकों द्वारा क्रास वोटिंग की खबरों के बाद मैनें पार्टी के विधायकों कैलाश नाथ सोनकर और त्रिवेणी राम को नोटिस भेजकर स्पष्टीकरण मांगा है.’

ताकि सच आ सके सामने
राजभर ने कहा कि दोनों से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है. उन्होंने कहा कि यह इसलिए भी जरूरी है, ताकि पार्टी के लोगों पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं उसका सच सामने आ सके. यूपी विधानसभा में सुभा सपा के चार विधायक हैं और यह बीजेपी सरकार में सहयोगी पार्टी है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ हाल में हुई बैठक के बाद उन्होंने घोषणा की थी कि उनकी पार्टी राज्यसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशियों का समर्थन करेगी. (इनपुट एजेंसी)