वाशिंगटन. फ्लोरिडा के हाई स्कूल में एक पूर्व छात्र द्वारा की गई गोलीबारी में कई छात्रों सहित कम से कम 17 लोग मारे गये हैं. गोलीबारी मामले में संदिग्ध निकोलस क्रूज को हिरासत में ले लिया गया है. एफबीआई मामले की जांच में स्थानीय अधिकारियों की सहायता कर रही है. 

फ्लोरिडा शूटिंगः 1 दशक में मास शूटिंग में 400 से अधिक अमेरिकियों की जा चुकी है जान

फ्लोरिडा शूटिंगः 1 दशक में मास शूटिंग में 400 से अधिक अमेरिकियों की जा चुकी है जान

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घटना पर ट्वीट कर शोक जताया है. ट्रंप ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘मैंने गवर्नर रिक स्कॉट से बात की है. कानूनी एजेंसियों के साथ मिलकर हम पूरी मुस्दैती से काम कर रहे हैं.’ ट्रंप ने आगे लिखा, ‘घटना में मारे गए लोगों और उनके परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. किसी भी बच्चे, शिक्षक या किसी और को अमेरिकी स्कूलों में असुरक्षित नहीं महसूस होना चाहिए.’

फ्लोरिडा में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान ब्रोवार्ड काउंटी शेरिफ स्कॉट इजरायल ने बताया, ‘निकोलस क्रूज हत्यारा है. वह हिरासत में है. हमने उसकी वेबसाइट और सोशल मीडिया की छानबीन शुरू कर दी है… कुछ बातें जो दिमाग में आ रही हैं, बहुत परेशान करने वाली हैं.’

क्रूज (19) फ्लोरिडा के पार्कलैंड स्थित मारजोरी स्टोनमैन डगलस हाई स्कूल का पूर्व छात्र है. गोलीबारी की घटना इसी स्कूल में हुई है. इजरायल का कहना है कि क्रूज को अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत स्कूल से निकाल दिया गया था. उन्होंने कहा कि संदिग्ध के पास काफी संख्या में राइफल की मैगजीन मौजूद थी.

शेरिफ ने कहा, ‘अभी तक, हमारा मानना है कि उसके पास एक एआर-15 राइफल था. मुझे नहीं पता कि उसके पास दूसरा राइफल था या नहीं.’ संदिग्ध को इलाज के बाद पुलिस को सौंप दिया गया है. घटना में कम से कम 17 लोग मारे गये हैं. स्कूल भवन के भीतर 12 लोगों की, स्कूल भवन के बाहर दो लोगों की और स्कूल के बाहर सड़क पर एक व्यक्ति की गोलीबारी में मौत हुई जबकि दो अन्य ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

इजरायल ने हालांकि मृतकों में छात्रों की संख्या नहीं बतायी है. स्कूल में बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकी समुदाय के छात्र हैं और इस घटना में कम से कम एक छात्र के घायल होने की सूचना है.