नई दिल्ली: ईरान-इराक बॉर्डर पर रविवार देर रात 1 बजे 7.3 की तीव्रता के भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. भूकंप के बाद हुई तबाही से अबतक 207 लोगों की जान जा चुकी है. जबकि, 1700 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे का कहना है कि भूकंप का केंद्र इराकी कस्बे हलब्जा से दक्षिण-पश्चिम में 32 किलोमीटर दूर स्थित था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भूकंप से ईरान के 14 राज्य प्रभावित हुए हैं. अधिकारियों ने इन राज्यों में सोमवार को स्कूल-कॉलेज बंद रहने की घोषणा की है. भूकंप से ईरान के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई. इससे राहत कार्यों में दिक्कत आ रही है.

32 साल पहले आए भूकंप ने ली थी 5 हजार जानें, बरसी पर फिर दहला मेक्सिको

32 साल पहले आए भूकंप ने ली थी 5 हजार जानें, बरसी पर फिर दहला मेक्सिको

अमेरिका के भूगर्भ सर्वेक्षण यानी यूएसजीएस के मुताबिक भूकंप का केंद्र हलाब्जा से 20 मील दक्षिण-पश्चिम में था. वहीं कुर्दिश टीवी का कहना है कि इराकी कुर्दिस्तान में कई लोग भूकंप की वजह से अपने घरों को छोड़कर जान बचाकर भाग गए हैं हालांकि अभी तक वहां से किसी तरह की जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं आई है.

भूकंप से अभी तक कितना नुकसान हुआ है, इसका आंकलन किया जाना है. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, ये काफी जबर्दस्त भूकंप था. ऐसे में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

5 साल पहले आए थे 2 भयानक भूकंप

पांच साल पहले भी ईरान-इराक में दो बड़े भयानक भूकंप आए थे, जिसमें कई सौ लोगों की जान गई थी. अगस्त 2012 में भी ईरान के उत्तर-पश्चिमी इलाके में दो जबर्दस्त भूकंपों में करीब 250 लोग मारे गए और 1300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.