बीजिंग: चीन में पिछले साल अपनी ड्यूटी निभाते हुए 240 पुलिसकर्मियों को अपनी जान गंवानी पड़ी. अधिकारियों ने आज बताया कि इनकी मौत काम के बढ़ते प्रेशर के चलते हुई. लोक सुरक्षा मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि शोध दर्शाते हैं कि फ्रंटलाइन पुलिसकर्मी एक दिन में 13 से 15 घंटे काम करते हैं. उन्होंने कहा कि यह आंकड़े अतिरिक्त श्रम को चिंता का गंभीर विषय बनाते हैं. मंत्रालय के मुताबिक काम के बोझ के चलते 246 पुलिस अधिकारियों की मौत खतरनाक दिशा की ओर इशारा करते हैं.

ये भी पढ़ें: दाऊद के पाकिस्तान में होने पर UN की मुहर, ग्लोबल आतंकियों की लिस्ट में पाक से 139 नाम

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार मंत्रालय ने अधिकारियों के परिवार के लिए पेंशन में वृद्धि की और बीमा व्यवस्था में सुधार किया है. इसके अलावा वह अधिकारियों को चिकित्सकीय खर्च और उनके बच्चों को मदद भी उपलब्ध कराएगा. मंत्रालय ने अधिकारियों के काम के बोझ को कम करने के लिए वैज्ञानिक और तकनीकी उपकरणों के इस्तेमाल के महत्त्व पर प्रकाश डाला. हम सब जानते हैं कि पुलिस की नौकरी में अनुशासन और हिम्मत की जरुरत मूलभूत जरूरत है.

ये भी पढ़ें: रोहिंग्या शरणार्थियों को वीरान टापू पर भेजेगा बांग्लादेश

कुछ समय पहले आए एक सर्वे के अनुसार यह खुलासा किया गया था कि पुलिसकर्मी अंडर प्रेशर काम करने को मजबूर हैं. यह सर्वे सिर्ऱ चीन नहीं बल्कि कई देशों को मिलाकर किया गया था जिसके बाद चौंकाने वाले खुलासे सामने आए थे. अब चीन में हुआ यह सर्वे दिखाता है कि पुलिसकर्मी बेहद तनाव और काम के बोझ चलते काम करना पड़ता है.