केरल:  अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह में शामिल होने वाले केरल के कासरगोड के एक ही परिवार के तीन लोगों और एक अन्य व्यक्ति के कथित तौर पर बम धमाके में मारे जाने की सूचना है. पुलिस के एक खुफिया अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि उन्होंने समाचार सुना है, लेकिन इसकी फिलहाल राष्ट्रीय जांच एजेंसी से इस मामले में कोई आधिकारिक पुष्टि प्राप्त नहीं हुई है. अधिकारी ने कहा, “हमें पता चला है कि मारे गए लोगों में शिहाज, उसकी पत्नी एवं उसके बच्चे के अलावा एक अन्य शख्स भी शामिल है.

इसके साथ ही अफगानिस्तान में आईएस में शामिल होने वाले केरलवासियों के मारे जाने की कुल संख्या आठ हो गई है. इसमें एनआईए ने बीते साल चार के मारे जाने की पुष्टि की थी. मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने बताया था कि बच्चे सहित 21 लोग लापता हैं. इनमें कासरगोड जिले से 17 लोग और पलक्कड़ के चार लोग शामिल हैं.

केरल से युवकों को आईएस में भर्ती करवाती थी, NIA की अदालत ने महिला को सुनाई 7 साल की सजा

इससे पहले भी केरल से ऐसी खबरें सामने आ चुकी हैं. कुछ दिनों पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की विशेष अदालत ने आतंकी संगठन आईएस में लोगों की भर्ती करवाने के मामले में एक महिला को 7 साल की कैद की सजा सुनाई है. बिहार की रहने वाली यास्मीन मोहम्मद जाहिद नाम की महिला को 15 युवकों को आईएसआईएस में भर्ती करने का दोषी पाया गया था. यास्मीन ने इस सभी यवकों को आईएसआईएस में भर्ती कराया था. सभी 15 युवक केरल के कासरगोड जिले के रहने वाले थे. आईएसआईएस में भर्ती कर यास्मीन ने उन्हें अफगानिस्तान पहुंचा दिया था.

इनपुट आईएएनएस