न्यूयॉर्क. खगोलविदों ने एक बड़ी सफलता प्राप्त करते हुए अंतरिक्ष की दो अत्याधिक चमकीली और अति विशाल आकाशगंगाओं के बेहद करीब से मिलने की घटना को कैद किया है. इन दो आकाशगंगाओं के आमने-सामने आने की यह घटना आज से पहले कभी नहीं देखी गई थी.

पृथ्वी से सबसे दूर, 70 करोड़ साल पुरानी आकाशगंगा का पता चला

पृथ्वी से सबसे दूर, 70 करोड़ साल पुरानी आकाशगंगा का पता चला

यह अति चमकीली आकाशगंगाएं ब्रह्माण्डीय इतिहास के इस विशिष्टकाल में अत्यंत दुर्लभ हैं. साथ ही यह अब तक के सबसे तीव्र नक्षत्र निर्माण के बेहद चरम उदाहरणों में से एक को भी दर्शा सकते हैं. कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के खगोलविदों ने एक दूसरे को प्रभावित करने वाली इन दो आकाशगंगाओं की गतिविधि को कैद किया है.

इन्हें सामूहिक रूप से एडीएफएस-27 के तौर पर जाना जाता है. कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के खगोलविद डोमिनिक रिचर्स ने कहा, धरती से इनकी अत्यंत दूरी और दोनों की प्रचंड तारा-निर्माण क्षमताओं को ध्यान में रखते हुए, यह संभव है कि हम अब तक के सबसे तीव्र आकाशगंगा विलय को देखें.