इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन मौत के 12 साल बाद फिर चर्चा में है. खबर उड़ रही है कि अल अवजाह में सद्दाम का शव उसकी कब्र से गायब कर दिया गया है. सुरक्षाकर्मियों का कहना है कि इस्लामिक स्टेट के खिलाफ कार्रवाई के दौरान बमबारी में सद्दाम की कब्र को बर्बाद कर दिया है. बमबारी के चलते अब सद्दाम की कब्र का नामोनिशान मिट सा गया है. इसी से खबर उड़ी है कि पूर्व तानाशाह के ताबूत को गायब कर दिया गया है.

तहखाने से पकड़ा गया था सद्दाम

सद्दाम हुसैन ने इराक पर करीब 25 साल तक राज किया और इस दौरान उसकी यहां तूती बोलती थी. रसायनिक हथियारों के मसले पर अमेरिका से उसकी अदावत हो गई जिसके बाद अमेरिका ने उस पर हमला बोल दिया. इस युद्ध में इराकी सेना ने अमेरिका के आगे आसानी से हथियार डाल दिए और सद्दाम को भी एक तहखाने से पकड़ लिया गया. 30 दिसंबर 2006 को उसे फांसी पर लटका दिया गया.

गायब हुई कब्र

अब बताया जा रहा है कि जिस जगह सद्दाम को दफनाया गया था वहां से उसकी कब्र गायब हो चुकी है. सद्दाम के वंशज शेख मनफ अली निदा का कहना है कि बॉडी से छेड़छाड़ की गई है. उनकी बॉडी को जला दिया गया है. वहीं, खबर ये भी आ रही है कि उनकी बॉडी को किसी दूसरे देश पहुंचा दिया गया है. इसके बाद से इराक में बहस छिड़ी हुई है कि आखिर सद्दाम की कब्र में शव है भी कि नहीं.

अल अवजाह में दफनाया था शव

28 अप्रैल को सद्दाम का जन्मदिन होता है और इस मौके पर उनके प्रशंसक हर साल कब्र पर जुटते हैं, लेकिन इस बार इनके हाथ निराशा लगी है क्योंकि ये जगह बर्बाद हो गई है. फांसी के बाद सद्दाम के शव को अल अवजाह भेजा गया था जहां इसे दफना दिया गया था.