नई दिल्ली।  भारत ने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दा उठाने पर आज ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन (ओआईसी) पर यह कहते हुए पलटवार किया कि इस संगठन का उसके अंदरूनी मामले पर टिप्पणी करने का कोई हक नहीं है. ओआईसी की ओर से पाकिस्तान द्वारा संयुक्त राष्ट्र में दिये गये बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए भारत ने कहा कि जम्मू कश्मीर उसका अभिन्न एवं अविभाज्य हिस्सा है. भारत ने इस संगठन को भविष्य में ऐसे बयान देने से दूर रहने की सलाह दी.

पाकिस्तानः वाट्सएप पर पैगंबर मुहम्मद का अपमान करने पर ईसाई व्यक्ति को मृत्युदंड का ऐलान!

पाकिस्तानः वाट्सएप पर पैगंबर मुहम्मद का अपमान करने पर ईसाई व्यक्ति को मृत्युदंड का ऐलान!

जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव सुमित सेठ ने कहा, ‘‘भारत बड़े अफसोस के साथ कहता है कि ओआईसी के बयान में भारतीय राज्य जम्मू कश्मीर के बारे में तथ्यात्मक रूप से अशुद्ध एवं गुमराह करने वाली टिप्पणी है, जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न एवं अविभाज्य हिस्सा है.’’

भारत की ओर से सेक्रेटरी डॉ. सुमित सेठ ने कहा, “मैं इस मंच का इस्तेमाल भारत के जवाब देने के अधिकार के तहत कर रहा हूं. यह जवाब पाकिस्तान के उस बयान के बाद दिया जा रहा है, जो उसने ओआईसी की तरफ से दिया था. भारत को अफसोस है कि आईओसी ने अपने बयान में भारत के अभिन्न और अविभाजित राज्य जम्मू-कश्मीर से जुड़े गलत तथ्य शामिल किए हैं.

उन्होंने ओआईसी की ओर पाकिस्तान द्वारा दिये गये बयान के जवाब में भारत के जवाब देने के अधिकार के तहत यह बयान दिया. ओआईसी की ओर से पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे पर भारत की आलोचना की थी. ओआईसी 57 देशों का संगठन है जो दुनियाभर के मुसलमानों का सामूहिक स्वर होने का दावा करता है.