टोक्यो: जापान में एक पिता को अपने बेटे को 20 साल तक लकड़ी के पिंजरे में रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. ‘बीबीसी’ की रिपोर्ट के अनुसार, योशीताने यामासाकी (73) ने कहा कि उसने अपने बेटे (अब 42 वर्ष का) को पिंजरे में कैद कर रखा था क्योंकि वह मानसिक रोग से पीड़ित था और कभी-कभी उग्र हो जाता था. पिंजरा एक मीटर लंबा और दो मीटर चौड़ा था और वह सांडा शहर स्थित यामासाकी के घर के पास एक झोपड़ी में था.

जनवरी महीने में यामासाकी के घर पहुंचे शहर के एक अधिकारी ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी. जांचकर्ताओं का मानना है कि यामासाकी ने अपने बेटे को 16 साल की उम्र से ही पिंजरे में बंद कर दिया था. यामासाकी ने कथित तौर पर आरोपों को स्वीकार कर लिया है और साथ ही अधिकारियों को बताया कि वह अपने बेटे के खाने और नहाने का ध्यान रखता था.

जानकारी के मुताबिक आरोपी शख्स के बेटे की उम्र अब 42 साल है. 20 साल से पिंजरे में बंद रहने की वजह से उसकी कमर मुड़ गई और वह सीधे खड़े हो पाने में अक्षम है. पुलिस ने संदेह के आधार पर आरोपी पिता को गिरफ्तार किया और अब इस मामले में छानबीन की जा रही है.