वाशिंगटन. फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा है कि उनके निजी डेटा भी तीसरे पक्ष को बेचे गए हैं. वह कैम्ब्रिज एनालिटिका स्कैंडल का हवाला दे रहे थे. इस स्कैंडल ने पिछले कुछ सप्ताह से जकरबर्ग की कंपनी को हिलाकर रख दिया है. बुधवार को दूसरे दिन जकरबर्ग कांग्रेस में पूछताछ का सामना कर रहे थे. वह कैलिफोर्निया की डेमोक्रेट प्रतिनिधि एना इशू के सवालों को जवाब दे रहे थे.

फेसबुक ने बताया कि 8.7 करोड़ लोगों की निजी जानकारी हासिल की गई. ऐसा तब हुआ जब 270,000 यूजर्स ने पर्सनैलिटी क्विज में हिस्सा लिया था. इन यूजर्स के साथ ही इनके दोस्तों के डेटा को भी एक बाहरी एप ने हासिल किया.

अकाउंट बंद करने में नहीं दिखाई रुचि
वहीं, दूसरी तरफ फेसबुक के 8.7 करोड़ से अधिक के उपयोगकर्ताओं के निजी डेटा से छेड़छाड़ वाले कैंब्रिज एनालिटिका प्रकरण के बावजूद लोगों ने अपना अकाउंट बंद करने में ज्यादा रुचि नहीं दिखाई है. जकरबर्ग ने कांग्रेस में दो दिन की सुनवाई के दूसरे दिन यह बात स्वीकारी. जब कांग्रेस की सदस्य डाना लुइस डिगेटे ने कहा कि कैंब्रिज एनालिटिका को लेकर खुलासों के बाद से फेसबुक ने उसके एकाउंट बंद करने वाले उपयोगकर्ताओं की संख्या में कोई ज्यादा बढोत्तरी महसूस नहीं की है, तो उन्होंने कहा , ‘हां.’

फेसबुक टूल
उन्होंने कहा कि प्रकरण के बाद एप की शुरूआत में फेसबुक ऐसा टूल डालने वाला है जो सीधे ‘सेटिंग’ में ले जाएगा और लोगों को चुनने का मौका देगा कि वह सेटिंग को कैसा रखना चाहते हैं.