लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में खानेवाल शहर में संपत्ति विवाद के चलते एक भाई ने अपनी बहन के पैर काट दिए. एक समाचार पत्र की रिपोर्ट के अनुसार खेत में काम करने वाली एक स्थानीय महिला ने अपने भाई से विरासत में मिली संपत्ति में हिस्सा मांगा था. भाई के मना करने के बाद महिला ने अदालत जाने की धमकी दी थी.

रिपोर्ट के अनुसार अदालत जाने से पहले ही उसके भाई ने उस पर कुल्हाड़ी से हमला किया और उसके पैर काट दिए. महिला को खानेवाल के जिला अस्तपाल ले जाया गया था लेकिन बाद में उसे मुल्तान के निशर्ता अस्पताल में भर्ती कराया गया. उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर ली है और आरोपी को पकड़ने के लिए छोपमारी की जा रही है.

बता दें कि हाल ही में एक मामले में आदेश देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम, 2005 से पहले पैदा हुई बेटियों पर भी लागू होता है. न्यायाधीश एके सीकरी और अशोक भूषण वाली पीठ ने कहा कि बेटी जन्म से ही पैतृक संपत्ति में हमवारिस होगी. पीठ ने यह भी कहा कि यह कानून 2005 से पहले के सभी संपत्ति विवादों और लंबित मामलों पर भी लागू होगा. अदालत ने यह फैसला दो बहनों द्वारा दायर की गई एक याचिका की सुनवाई करते हुए सुनाया.