इस्लामाबाद। सड़क दुर्घटना के एक मामले को लेकर अमेरिका-पाकिस्तान आमने सामने आ गए है. सड़क हादसे में शामिल रहे अमेरिका के एक वरिष्ठ राजनयिक को पाकिस्तान देश से बाहर जाने से रोक सकता है. अमेरिकी दूतावास में रक्षा और वायु अताशे कर्नल जोसेफ इमैनुअल हाल तेजी से अपनी लैंड क्रूजर चलाते हुए लाल बत्ती पार कर गए और इस्लामाबाद के नजदीक दमन- ए- कोह इलाके में शनिवार को एक ट्रैफिक सिग्नल के पास मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को टक्कर मार दी.

यूएस राजनयिक की कार से हादसे में एक की मौत

इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी जबकि दूसरा घायल हो गया था. ‘डॉन न्यूज’ की खबर के अनुसार, इस्लामाबाद की पुलिस ने गृह मंत्रालय को पत्र भेजकर हाल का नाम ‘एग्जिट कंट्रोल लिस्ट’ में डालने का अनुरोध किया है. मंत्रालय ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है. पुलिस महानिरीक्षक सुल्तान आजम तैमूरी ने बताया कि अमेरिकी राजनयिक का नाम ‘एग्जिट कंट्रोल लिस्ट’ में डालने के लिए कल मंत्रालय को पत्र भेजा गया है.

पुलिस ने मंत्रालय को सूचित किया है कि राजनयिक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, लापरवाही से वाहन चलाना आदि की आपराधिक धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. जांच के लिए राजनयिक की मौजूदगी जरूरी है. सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में दिखा कि राजनयिक ने सिग्नल तोड़ा था. हालांकि राजनयिक छूट के कारण उन्हें हिरासत में नहीं लिया गया लेकिन पुलिस ने उनके स्थानीय ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

तैमूरी ने भी कहा कि संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ने पुष्टि की कि राजनयिक को देश छोड़ने से रोकने के लिए प्रबंध किया गया है. अमेरिकी राजनयिक का नाम निगरानी सूची में डालने के लिए एफआईए को एक और पत्र भेजा गया है. आव्रजन विभाग के सूत्रों के हवाले से बताया गया, अभी तक अमेरिकी राजनयिक ने देश नहीं छोड़ा है.

पुलिस देख हवाई अड्डे से बाहर लौटे राजनियक

सबडिविजनल पुलिस अधिकारी सचिवालय, एएसपी जोहैब नसरूल्ला रांझा ने कहा कि अमेरिकी राजनयिक ने पश्चिम एशिया जाने वाले कतर एयरवेज से बाहर जाने का प्रयास किया था. वह रविवार की सुबह चार बजे हवाई अड्डा पहुंचे लेकिन पुलिस को देखकर वहां से चले गए. मामले के जांच अधिकारी निरीक्षक अरशद अली ने कहा कि मामले की जांच को अंतिम रूप दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जांचकर्ताओं ने अभी तक गवाहों, हादसे में जख्मी हुए लोगों और आरोपी के बयान दर्ज किए हैं. अधिकारी ने बताया कि पुलिस को मृतक और जख्मी व्यक्ति के मेडिको लीगल रिपोर्ट का इंतजार है ताकि जांच और चालान को अंतिम रूप दिया जा सके.

अमेरिका-पाकिस्तान में तनातनी

आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिका-पाकिस्तान के बीच इन दिनों तनातनी चल रही है. ट्र्ंप प्रशासन ने पाकिस्तान पर सख्ती बरतते हुए उसे वित्तीय सहायता देने पर भी रोक लगा दी. पाकिस्तान की भूमिका पर अमेरिका साफ तौर पर उंगली उठा चुका है. ऐसे में पहले से ही चल रहे तनावपूर्ण रिश्तों में ये नया मामला और तनाव पैदा कर सकता है. पाकिस्तानी पत्रकारों का दावा है कि वॉशिंगटन में पाकिस्तान राजनयिकों पर कई प्रतिबंध लगाए हैं, वहीं पाकिस्तान ने अपने यहां अमेरिकी राजदूत डेविड हेल को पेशी पर बुलाया.