वॉशिंगटन/ बेरूत: सीरिया में अमेरिका और उसके सैन्‍य सहयोगी ब्रिटेन और फ्रांस के हमले के बाद रूस ने इन्‍हें परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है. संदिग्ध रासायनिक हमले के जवाब में बशर अल असद सरकार के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व वाले हमलों के बाद सीरिया के सहयोगी रूस ने अमेरिका और उसके दोनों सैन्‍य सहयोगी देशों को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है. अमेरिका में रूस के राजदूत एनातोली एंतोनोव ने एक बयान में कहा ” एक बार फिर , हमें धमकाया जा रहा है. हम आगाह करते हैं कि ऐसी कार्रवाई को बिना परिणाम भुगते नहीं छोड़ा जाएगा. इसकी सारी जिम्मेदारी अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस पर है. रूस के राष्ट्रपति का अपमान करना अस्वीकार्य और अमान्य है.”

वहीं मॉस्को में रूस के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि सीरिया पर पश्चिमी देशों के हमले ऐसे समय में हुए हैं जब देश के पास शांतिपूर्ण भविष्य का मौका था. विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा ने फेसबुक पर लिखा, ”इन सबके पीछे जिम्मेदार लोग दुनिया में नैतिक नेतृत्व का दावा करते हैं और यह ऐलान करते हैं कि वे कुछ अलग हैं. आपको उस समय सीरिया की राजधानी पर हमले करने के लिए वास्तव में अलग होने की जरुरत है जब उसके पास शांतिपूर्ण भविष्य का मौका था.

दहल उठा दमिश्‍क, असद की आर्मी ने दिया जवाब
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हवाई हमलों की घोषणा करने के बाद सीरिया की राजधानी दमिश्‍क शनिवार सुबह तेज विस्फोटों से दहल उठी और आसमान में घना धुआं छा गया. ट्रंप ने हमले का आदेश सीरिया में हुए कथित रासायनिक हमलों में करीब 60 लोगों की मौत के बाद दी थी. सीरिया की एयरफोर्स ने अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के इन संयुक्त हमलों का जवाब भी दिया. पूर्वी दमिश्क से धुआं निकलता देखा और जहां आसमान में धुएं का गुबार छा गया. सीरियाई सरकारी टेलीविजन ने दिखाया कि वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र पर हमला हुआ और सीरिया के वायु रक्षा ने दक्षिणी दमिश्क की ओर आ रहे 13 रॉकेटों को हवा में ही नाकाम कर दिया.

अच्छे लोगों को अपमानित नहीं किया जाएगा:सीरिया
हमले के बाद सीरिया के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ”अच्छे लोगों को अपमानित नहीं किया जाएगा.” सीरियाई सरकारी टीवी ने कहा कि हमले ” अंतरराष्ट्रीय कानून का स्पष्ट उल्लंघन हैं और यह अंतरराष्ट्रीय वैधता की अवमानना दर्शाता है.” ट्रंप ने शुक्रवार रात अपने तीन सहयोगियों के साथ मिलकर सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद को रासायनिक हमले के लिए दंडित करने और उन्हें ऐसा दोबारा करने से रोकने के लिए सैन्य हमले करने की घोषणा की थी. सीरिया सरकार लगातार प्रतिबंधित हथियार के इस्तेमाल की बात नकार रही है.

अमेरिका ने कहा- फिलहाल एकमात्र हमला
अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस का कहना है कि प्रारंभिक हवाई हमलों में अमेरिकी हार की कोई रिपोर्ट नहीं है. उन्होंने आगे और हमले करने की संभावना को खारिज किए बिना कहा, ” फिलहाल यह एकमात्र हमला है.” मैटिस ने कहा कि रासायनिक हथियार बनाने में असद के मददगार विभिन्न स्थलों पर हमला किया गया है.

ब्र‍िटेन ने कहा- शासन में बदलाव के लिए नहीं है ये हमला
ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमले के प्रभावों का आकलन किया जाना अभी बाकी है. ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा हमले न ही गृहयुद्ध में हस्तक्षेप और न ही शासन में बदलाव के लिए हैं … लेकिन सीमित और लक्षित हमले हैं जो क्षेत्र में और तनाव उत्पन्न नहीं करेंगे और नागरिकों को हताहत होने से बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे. (इनपुट एजेंसी)