मॉस्को: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रविवार को अपने ईरानी समकक्ष हसन रुहानी से कहा कि अगर पश्चिमी देशों ने सीरिया पर फिर से हवाई हमले किए तो अंतरराष्ट्रीय संबंधों में ‘अराजकता’ पैदा हो जाएगी. अमेरिका के नेतृत्व में सीरिया के रासायनिक हथियारों वाले स्थानों पर हवाई हमले होने के एक दिन बाद पुतिन और रूहानी ने फोन पर बात की.

क्रेमलिन की ओर से जारी बयान के मुताबिक पुतिन ने कहा, ‘‘अगर संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उल्लंघन करते हुए इस तरह की कार्रवाई फिर की गई तो इससे अंतरराष्ट्रीय संबंधों में अराजकता पैदा हो जाएगी.’’ बयान के अनुसार दोनों नेताओं ने कहा कि गैरकानूनी कार्रवाई से सीरिया में राजनीतिक समाधान की संभावनाओं को नुकसान पहुंचा है.

अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने बीते शनिवार को सीरिया के दूमा में रासायनिक हथियारों वाले स्थानों पर हवाई हमले किए थे और कई संयंत्रों को तबाह करने का दावा किया था. सीरीयाई ऑब्‍जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि दमिश्‍क में एक वैज्ञानिक रिसर्च सेंटर और सेना के ठिकाने पर अमेरिका और उसके सहयोगियों ने हमले किए हैं.

ट्रंप ने कुछ समय पहले व्‍हाइट हाउस से टीवी पर संबोधित करते हुए कहा था, ‘मैंने संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका की सशस्‍त्र सेनाओं को सीरिया के तानाशाह बशर अल असद की केमिकल हथियारों की क्षमता पर हमले का आदेश दिया है.’ एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया हमले में कई जगह निशाना बनाई गई और इसमें टॉमहॉक क्रूज मिसाइले शामिल थीं.