मॉस्को: रूस के उपविदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव ने कहा है कि वर्तमान में जो रूस और अमेरिका के बीच चल रहा है, उसपर बेहतर समझ के लिए संपर्क के रास्ते अभी भी खुले हुए हैं. समाचार एजेंसी तास ने रविवार को रयाबकोव के हवाले से कहा कि मुझे नहीं पता कि अमेरिकी साथी सहयोग शब्द की व्याख्या कैसे करते हैं. संपर्क के रास्ते और जो कुछ चल रहा है, उसके बारे में सूचना के आदन-प्रदान के रास्ते अभी भी खुले हुए हैं, और आशा है कि दोनों देश एक- दूसरे की योजना का सटीक आकलन कर सकेंगे.

सीरिया में रासायनिक हमले की जांच शुरू, रूसी प्रेसिडेंट पुतिन ने और हमलों को लेकर अमेरिका को चेताया

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘हम पश्चिमी ट्रोइका के प्रस्ताव को गंभीरता से ले रहे हैं..इस मामले पर किसी भी उचित समझौते और फैसले पर पहुंचना बहुत मुश्किल होगा. हमें समझना होगा कि हमें खतरे की रेखा के बारे में पता है.’ अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के साथ मिलकर सीरिया पर शनिवार को हमला बोला था और कहा था कि यह कथित रूप से सीरिया सेना द्वारा रासायनिक हथियार हमले पर प्रतिक्रिया है. सीरिया सरकार ने लगाए गए आरोपों से इंकार किया है.

संयुक्त राष्ट्र में बोलीं अमेरिका की विशेष दूत निक्की हेली, सीरिया मामले को लेकर रूस पर लगेंगे नए प्रतिबंध

रूस में अमेरिकी राजदूत जॉन हंट्समैन ने उसी दिन एक बयान में कहा था कि सीरिया मुद्दे पर रूस के साथ सहयोग और नागरिक हताहतों के खतरे को कम करने के लिए किसी तरह के कदम उठाने से पहले वाशिंगटन ने मॉस्को से संपर्क किया था. रयाबकोव ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के मसौदा प्रस्ताव पर रूस और पश्चिम के लिए आम सहमति बनाना मुश्किल होगा, क्योंकि दोनों पक्ष अपने खतरे की रेखा से भली भांति वाकिफ हैं. (इनपुट-एजेंसी)