लंदन. ब्रिटिश जिहादी सैली जोंस की अमेरिकी ड्रोन हमले में मौत हो गई है. जोंस आईएस की राजधानी से भागने की कोशिश में थी जब वो ड्रोन हमले का शिकार बनीं. ब्रिटेन की रहने वाली जोंस अपने नन्हे बेटे को साथ लेकर IS आतंकवादी जुनैद हुसैन से शादी रचाने सीरिया चली गई थी. इसके बाद वह IS के लिए लोगों की भर्ती करने लगी. खबरों के मुताबिक, एक वक्त ऐसा भी आया जब जोंस वापस अपने वतन लौटने के लिए बुरे दौर से गुजरी.

IS के एक अन्य जिहादी की पत्नी आयशा ने स्काई न्यूज को बताया कि जोन्स अपने घर लौटना चाहती थी, लेकिन संगठन के बाकी आतंकी उसे ऐसा करने से रोक रहे हैं। आयशा ने बताया, ‘वह रो रही थी। वह वापस अपने देश ब्रिटेन लौटना चाहती है, लेकिन वह इस आतंकी संगठन के एक जिहादी की पत्नी है, इसीलिए ISIS उसे ऐसा नहीं करने दे रहा है। उसने मुझे बताया कि वह अपने वतन लौटना चाहती है।’ आयशा ने आगे बताया, ‘पिछले साल उसके पति की युद्ध में मौत हो गई। उसका एक बेटा है।’

अब आई रिपोर्ट के मुताबिक जोंस इराक-सीरिया बॉर्डर पर अमेरिकी एयरक्राफ्ट का शिकार बन गई. ये ब्रिटेन की मोस्ट वांटेड ‘वाइट विडो’ थी. जोंस को वाइट विडो के तौर पर भी जाना जाता था. वह इस्लामिक स्टेट के लिए रिक्रूटर और प्रोपैगेंडिस्ट के तौर पर काम करती थी. रिपोर्ट के मुताबिक, सीआईए ने सरकार को बताया कि 50 साल की जोंस उसी महीने में ड्रोन हमले में मारी गई थी. ऐसा भी अंदेशा है कि जोंस का 12 वर्षीय बेटा भी ब्लास्ट में मारा गया. हालांकि इसपर स्पष्टीकरण नहीं आया है.

सीरिया के रक्का में आतंकी जुनैद हुसैन से शादी के बाद वह ISIS के लिए मुख्य रिक्रूटर के तौर पर उभरी. 2013 में वह अपने 10 साल के बच्चे के साथ ब्रिटेन छोड़कर सीरिया चली गई. उसका पति ISIS के लिए डिजिटल अभियान चलाता था औऱ पिछले साल एक ड्रोन अटैक में मारा गया. जुनैद की मौत के बाद जोन्स ने ट्विटर पर लिखा था कि उसे अपने पति की मौत पर गर्व है. उसने लिखा, ‘मुझे अपने पति पर गर्व है जिन्हें अल्लाह के सबसे बड़े दुश्मन ने मारा है.’

जोन्स ने धर्मपरिवर्तन करके इस्लाम अपनाया था. वह ISIS के लिए प्रॉपेगैंडा फैलाती थी. वह उन लोगों की सूची भी प्रकाशित कर चुकी है जो ISIS की ‘किल लिस्ट’ में शामिल थे. उसने सोशल मीडिया पर अपनी इस इच्छा का ऐलान किया था कि वह ईसाइयों का सिर कलम करना चाहती है. सैली जोंस को ‘वाइट विडो’ के अलावा उम्म हुसैन अल-ब्रितानी नाम से भी जाना जाता है. 48 साल की जोन्स कई बार ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोप में आतंकी हमलों की धमकी दे चुकी है.