बीजिंग| चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग द्वारा चुने गए कई युवा चीनी सैन्य अधिकारियों के विश्व की सबसे बड़ी सेना में शीर्ष पद पर काबिज होने की उम्मीद है. पुराने जनरलों ने या तो पद छोड़ दिये हैं या उन्हें व्यापक भ्रष्टाचार निरोधक अभियान में पद से हटा दिया गया है.

23 लाख की संख्या वाली पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के अधिकतर शीर्ष जनरल सेवानिवृत्त होने वाले हैं जिसमें सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के वाइस चेयरमैन फान चांगलोंग, रक्षा मंत्री चांग वांगकुआन और सीएमसी के तीन अन्य सदस्य शामिल हैं. इससे नये जनरलों की पीढ़ी के लिए मार्ग प्रशस्त्र होगा.

जनरल फान सर्वोच्च रैंकिंग सैन्य अधिकारी हैं क्योंकि वह 64 वर्षीय शी के सहायक हैं जो सीएमसी के प्रमुख हैं. परिवर्तन सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी आफ चाइना (सीपीसी) की 18 अक्तूबर से होने वाली 19वीं कांग्रेस में तय होने की उम्मीद है.

इस कांग्रेस में शी के साथ ही प्रधानमंत्री ली क्विंग के अगले पांच वर्ष के कार्यकाल को अनुमोदन मिलने की भी उम्मीद है. हांगकांग स्थित साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट ने बताया कि शी के शीर्ष सैन्य सहयोगियों की पदोन्नति होने की उम्मीद है.