नई दिल्‍ली: दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ सीएम केजरीवाल के आवास पर सोमवार रात हुई कथित बदसलूकी से नाराज दिल्‍ली सरकार के ब्‍यूरोक्रेट्स ने काम ना करने की धमकी दी है. सोमवार रात को चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ हुई धक्‍का-मुक्‍की की शिकायत लेकर आईएएस अधिकारियों का एक दल LG से मिला और LG से मामले में एफआईआर कराने की मांग की. यही नहीं, जिम्‍मेदार विधायकों को गिरफ्तार करने की मांग भी की. आईएएस एसोसिएशन की सेक्रेटरी मनीषा सक्सेना ने कहा कि सोमवार देर शाम बैठक बुलाई गई थी, जिसमें सीएम, डिप्टी सीएम और विधायक मौजूद थे. जब मुख्य सचिव वहां पहुंचे तो उनके साथ बेहद हिंसक वर्ताव किया गया. पिछले कुछ सालों से ऐसी चीजें लगातार हो रही हैं. अधिकारियों को अपमानित और उन्हें परेशान किया जा रहा है.

ब्‍यूरोक्रेट्स का कहना है कि जब तक आरोपियों के खिलाफ एक्‍शन नहीं लिया जाता, वह काम नहीं करेंगे. दिल्ली प्रशासनिक अधीनस्थ सेवा अध्यक्ष डीएन सिंह ने कहा कि हम सभी तत्‍काल प्रभाव से स्‍ट्राइक पर जा रहे हैं. हम सभी अपने चीफ सेक्रेटरी के साथ हैं. जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, हम काम पर नहीं लौटेंगे.

डीएन सिंह ने कहा कि हमने LG से इस पूरे मामले में कानूनी कार्रवाई करने की बात की है. डीएन सिंह ने इसे संवैधानिक संकट बताते हुए कहा कि पिछले कई वर्षों में ऐसा कभी नहीं हुआ.

कांग्रेस ने कहा माफी मांगो
कांग्रेस के नेता संदीप दीक्ष‍ित ने कहा कि यह दर्शाता है कि आम आदमी पार्टी किस तरह भ्रष्‍टाचार में लिप्‍त है. अगर कुछ अच्‍छा होता है तो केजरीवाल और उनके विधायक उसका पूरा श्रेय ले जाते हैं, लेकिन अगर बुरा हुआ तो उसे सरकार पर थोप देते हैं. संदीप दीक्ष‍ित ने कहा कि इस तरह हाथापाई करना! कोई गुंडागर्दी है क्‍या?

इस घटना पर तिखी प्रतिक्रिया देते हुए दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष अजय माकन ने ट्व‍िटर पर लिखा कि केजरीवाल के सामने हुई इस गुंडागर्दी के लिए उन्‍हें माफी मांगनी चाहिए. आम आदमी पार्टी विफल हो रही है. सीएम के सामने ही विधायकों द्वारा चीफ सेक्रेटरी को पीटा जाना उनकी एक और कमी को दर्शाता है. अजय माकन ने लिखा है कि इसके जरिये दरअसल वह लोगों का ध्‍यान सरकार की नाकामियों से हटाना चाहते हैं. AAP को गवर्नेंस के बारे में नहीं पता और वह बुरी तरह विफल हो रही है.

बीजेपी भी उतरी मैदान में
बीजेपी दिल्‍ली के अध्‍यक्ष मनोज तिवारी ने ट्व‍िटर पर लिखा कि आम आदमी पार्टी ने शर्मनाक काम किया है. यह शहरी नक्सलवाद है.

‘आप’ पार्टी की सफाई
वहीं मामले को बढ़ता देख आप पार्टी की ओर से भी बयान जारी किया गया है. पार्टी की ओर से कहा गया है कि, मीटिंग के दौरान दिल्ली मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से सवाल किए जाने पर उन्होंने बदतमीजी की थी. आप की ओर से आरोप लगाया गया कि अंशु प्रकाश ने बैठक में कहा कि वे विधायकों के किसी भी सवाल का उत्तर नहीं देंगे, क्योंकि वे सिर्फ उपराज्यपाल के प्रति जवाबदेह हैं. उन्होंने विधायकों के साथ गलत भाषा का उपयोग किया और फिर सीएम आवास से चले गए. अब वे बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं.

क्‍या है पूरा मामला
दरअलस, दिल्‍ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने सीएम अरविंद केजरीवाल और उनके विधायकों पर संगीन आरोप लगाया है कि केजरीवाल के घर पर उनके साथ बदसलूकी की गई और उनके साथ हाथापाई हुआ. दरअसल, सीएस अंशु प्रकाश केजरीवाल के ऐड को लेकर पिछले तीन साल से चल रहे खींचतान के मामले में उनसे मिलने गए थे. बैठक के दौरान केजरीवाल के विधायक अंशु प्रकाश के साथ बदतमीजी करने लगे और उनके साथ धक्‍का-मुक्‍की करने लगे. सीएस अंशु प्रकाश का आरोप है कि सीएम केजरीवाल के सामने उनके विधायक हाथापाई करते रहे, लेकिन सीएम ने उन्‍हें नहीं रोका. अंशु प्रकाश ने यह भी आरोप लगाया कि विधायकों ने केजरीवाल के इशारे पर ही उनके साथ ऐसा किया.